पटना। पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के बीच बिहार के लोगों को अब लोगों को बस के सफर के लिए भी पहले से अधिक पैसे खर्च करने होंगे। बिहार में 14 मार्च से बसों की सवारी महंगी हो सकती है। बिहार में चलने वाली तमाम बसों का किराया 14 मार्च की आधी रात से 25 फीसदी तक बढ़ाने की तैयारी है। मोटर ट्रांसपोर्ट फेडरेशन के अध्यक्ष उदय शंकर सिंह ने न्यूज 18 को बताया कि फेडरेशन ने किराया बढ़ाने का फैसला ले लिया है, जिसे पत्र के जरिये परिवहन मंत्री, परिवहन सचिव सहित तमाम पदाधिकारियो को भेज दिया जाएगा।

बस मालिकों के साथ ही दूसरी तरफ ट्रक ऑनर एसोसिएशन ने भी किराया बढ़ाने की तैयारी कर दी है। बिहार ट्रक ऑनर एसोसिएशन के अध्यक्ष भानु शेखर ने कहा कि डीजल की बढ़ी कीमतों को देखते हुए 20 से 30 फीसदी किराया बढ़ाने की तैयारी चल रही है।

ट्रांसपोर्ट फेडरेशन के अध्यक्ष उदय शंकर सिंह ने बताया कि पिछले दो सालों में डीजल के दाम 20 रु तक बढ़ गए हैं जिससे बस मालिकों की परेशानी बढ़ गई है। डीजल के साथ परमिट शुल्क, इंश्यूरेंस शुल्क, टैक्स, टॉल प्लाजा शुल्क सभी बढ़ गए है इसलिए भाड़ा बढ़ाना जरूरी हो गया है।

ट्रांसपोर्ट फेडरेशन के अनुआर 14 मार्च की आधी रात से 25 फीसदी बढ़ा हुआ भाड़ा लागू करेंगे। बढ़े हुए भाड़े का चार्ट विभाग को दे दिया जाएगा और 13 मार्च विभाग के अनुमति का इंतजार किया जाएगा। अगर 13 मार्च तक अनुमति नहीं मिली तो 14 मार्च से भाड़ा बड़ा दिया जाएगा। परिवहन विभाग ने फिलहाल इन मांगों पर कोई सहमति नही जताई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here