28 C
Mumbai
Thursday, June 24, 2021

अजीत पवार के साथ सरकार बनाना एक भूल थी, लेकिन इसका कोई पछतावा नहीं: देवेंद्र फडणवीस

मुंबई. महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस ने 2019 में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के नेता अजीत पवार के साथ मिलकर 80 घंटे तक चली अल्पकालिक सरकार बनाने के फैसले को गलती मानते हुए शुक्रवार को कहा कि इस भूल का उन्हें कोई पछतावा नहीं है. भारतीय जनता पार्टी के नेता फडणवीस ने मराठी दैनिक लोकसत्ता के संपादकों के साथ ऑनलाइन चर्चा के दौरान यह बात कही. फडणवीस ने कहा, ‘मुझे उसका कोई पछतावा नहीं है, लेकिन हमें ऐसी सरकार नहीं बनानी चाहिए थी. यह एक भूल थी.’

गौरतलब है कि महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव परिणाम में किसी राजनीतिक दल को स्पष्ट बहुमत नहीं मिलने के बाद शिव सेना, राकांपा और कांग्रेस, मिलकर राज्य में गैर-भाजपा सरकार बनाने की कवायद में जुटे हुए थे, ऐसे में 23 नवंबर 2019 की सुबह राजभवन में आयोजित एक सादे समारोह में फडणवीस और पवार ने मुख्यमंत्री तथा उपमुख्यमंत्री की शपथ लेकर राजनीतिक गलियारे में हलचल पैदा कर दी थी.

भाजपा नेता ने शिव सेना प्रमुख उद्धव ठाकरे पर चुनाव पूर्व किए गए गठबंधन को छोड़ने का आरोप लगाते हुए कहा, ‘हालांकि अजीत पवार के साथ सरकार बनाने का फैसला एक भूल थी, लेकिन जब आपकी पीठ में छुरा भोंका जाता है तो आपको राजनीति में बने रहने के लिए ऐसे फैसले लेने पड़ते हैं.’

फडणवीस ने कहा, ‘राजनीति में बने रहने के लिए जो आवश्यक होता है, वो आपको करना होता है. जब आपकी पीठ में छुरा भोंका जाता है तो आपको भी करारा जवाब देना पड़ता है.’ भाजपा नेता ने कहा, ‘जब सरकार बनाने का मौका आया तो हमने उसे भुनाया. अब मैं यह कह सकता हूं कि उस समय जो हमने किया हमारे सभी समर्थकों को पसंद नहीं आया था.’

महाराष्ट्र विधानसभा में विपक्ष के नेता ने कहा, ‘मैं इस बात को लेकर पूरी तरह से सहमत हूं कि ऐसा करने से समर्थकों के बीच मेरी छवि खराब हुई थी. बेहतर होता कि हमने अजीत पवार के साथ मिलकर सरकार नहीं बनाई होती, लेकिन उस समय मैंने सोचा कि यह सही फैसला है.’

मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के तीन दिन बाद ही फडणवीस को अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा था. फडणवीस ने कहा कि अजीत पवार ने उनसे कहा था कि वह निजी कारणों से उप-मुख्यमंत्री के पद से इस्तीफा दे रहे हैं. राज्य में शिव सेना-राकांपा-कांग्रेस के गठबंधन वाली महा विकास अघाड़ी की सरकार बनने के बाद राकांपा के नेता अजीत पवार दोबारा उपमुख्यमंत्री बनाए गए थे.

Related Articles

कोरोना को केवल मुंबई ही नही बल्कि पूरे देश से जाना होगा : भाजपा नेता अमरजीत मिश्र

मुंबई। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र भाई मोदी जिस साहस और मनोबल से कोरोना कोविड--19 की महामारी का मुकाबला कर रहे हैं उसकी...

राजावाडी अस्पताल में भर्ती मरीज को चूहों ने काटा

महापौर ने किया अस्पताल का दौरा मुंबई। मुंबई के प्रसिद्ध राजावाडी अस्पताल में भर्ती एक मरीज को रात में...

गोवंडी से 10 मुस्लिम अपराधी किए गए तड़ीपार

जनता में खुशी का माहौल मुंबई। शिवाजी नगर पुलिस की हद में बढ़ते अपराध को रोकने के लिए...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

22,042FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

कोरोना को केवल मुंबई ही नही बल्कि पूरे देश से जाना होगा : भाजपा नेता अमरजीत मिश्र

मुंबई। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र भाई मोदी जिस साहस और मनोबल से कोरोना कोविड--19 की महामारी का मुकाबला कर रहे हैं उसकी...

राजावाडी अस्पताल में भर्ती मरीज को चूहों ने काटा

महापौर ने किया अस्पताल का दौरा मुंबई। मुंबई के प्रसिद्ध राजावाडी अस्पताल में भर्ती एक मरीज को रात में...

गोवंडी से 10 मुस्लिम अपराधी किए गए तड़ीपार

जनता में खुशी का माहौल मुंबई। शिवाजी नगर पुलिस की हद में बढ़ते अपराध को रोकने के लिए...

वर्षा ऋतु में वर्षा तिवारी ‘बिजुरी ‘के पहल पर मप्र के पटल पर हुआ 51 कलमकारगणो का रस बरसात

भोपाल। इतनी विकट परिस्थितियों में भी तन मन और धन से साहित्य की सेवा करने वाली साहित्यिक हिन्दी मासिक पत्रिका सामयिक परिवेश...