मुंबई। आम आदमी पार्टी ने महाराष्ट्र के पूर्व राजस्व मंत्री चंद्रकांत पाटिल के इस बेशर्म रहस्योद्घाटन पर आश्चर्य और क्षोभ व्यक्त किया, जिसमें उन्होंने यह खुलासा किया कि पीडब्ल्यूडी घोटाले के आरोपी और वर्तमान मंत्री छगन भुजबल की जमानत को प्रभावित किया। गौरतलब है कि हाल के साक्षात्कार में चंद्रकांत पाटिल को स्पष्ट रूप से यह कहते हुए सुना जा सकता है कि यह सब छगन भुजबल के भतीजे समीर भुजबल के आग्रह के कारण संभव हुआ। हमने भरपूर मदद करने का निर्णय लिया और यह सुनिश्चित किया कि छगन भुजबल को जमानत की पात्रता न होने  के बावजूद जमानत मिल जाए। तो फिर, उनके पास प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना करने का इतना दुस्साहस कैसे है? आम आदमी पार्टी की राष्ट्रीय प्रवक्ता और मुंबई प्रभारी प्रीति शर्मा मेनन ने कहा किचंद्रकांत पाटिल के बयान पर हम स्तब्ध हैं, जो स्पष्ट रूप से दिखाता है कि महाराष्ट्र की पूर्व देवेंद्र फडणवीस सरकार ने न केवल न्याय प्रणाली में हस्तक्षेप किया, बल्कि यह भी सुनिश्चित किया कि पात्रता न होने के बावजूद कई घोटालों के आरोपी छगन भुजबल को जमानत मिल जाए। भाजपा को इस बात की परवाह नहीं हुई, जब एक घोटालेबाज को मंत्री बनाया गया। उनके अहंकार को ठेस तब लगी, जब भुजबल ने नरेंद्र मोदी की आलोचना की। हम मांग करते हैं कि छगन भुजबल की जमानत रद्द हो, चंद्रकांत पाटिल को कानून में दखल देने के लिए गिरफ्तार किया जाए, और देवेंद्र फडणवीस सरकार के कार्यकाल के दौरान राजनीतिक हस्तक्षेप के ऐसे सभी मामलों की पूरी जांच की जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here