कोलकाता। कोयला घोटाले में तृणमूल कांग्रेस की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। TMC के सांसद अभिषेक बनर्जी की पत्नी रुजिरा बनर्जी से सीबीआई (CBI) टीम ने करीब डेढ़ घंटे तक पूछताछ की। सीबीआई की टीम उनके घर से निकल चुकी है।

फिलहाल यह पता नहीं चला है कि रुजिरा से सीबीआई ने क्या-क्या सवाल किए। इससे पहले आज सुबह मुख्यमंत्री ममता बनर्जी अभिषेक से मिलने के लिए उनके घर गईं थीं। उनके बाहर आते ही अब सीबीआई की टीम दाखिल हो गई है।

कोयला तस्करी मामले में अभिषेक बनर्जी की पत्नी को सोमवार को समन जारी किया गया था। CBI सूत्रों के मुताबिक अभिषेक को अभी फिलहाल समन नहीं दिया गया है। नरूला से पूछताछ के बाद अभिषेक को जल्द ही समन दिया जा सकता है।

सीबीआई की कार्रवाई से बंगाल की राजनीति में हंगामा खड़ा हो गया है। तृणमूल कांग्रेस ने इसे राजनीतिक प्रतिशोध करार दिया है। सोमवार को सीबीआई का नोटिस मिलने के बाद अभिषेक बनर्जी ने कहा था कि उन्हें देश के कानून पर पूरा भरोसा है। उन्होंने ये भी कहा था कि उन्हें इन हथकंडों का इस्तेमाल कर डराने की कोशिश की जा रही है।

इस घोटाले में क्या है रुजिरा की भूमिका?

सूत्रों के मुताबिक, गवाहों और संदिग्धों के कुछ बयानों में रुजिरा की भूमिका सामने आई है। सीबीआई को जांच के दौरान पता चला है कि रुजिरा की कंपनी के अकाउंट में कुछ ऐसे लेनदेन हुए हैं, जिनके तार सीधे तौर पर कोल स्‍कैम से जुड़े हैं। बता दें कि अभिषेक बनर्जी ने अपनी मां लता के नाम से साल 2010 में ‘लीप्स एंड बाउंड्स मैनेजमेंट सर्विस’ फर्म की शुरुआत की थी। 4 मई, 2011 को इस कंपनी का रजिस्ट्रेशन कराया गया था।

कंपनी पर पोंजी स्कीम चलाने का आरोप

साल 2013 में माकपा की ओर से भी आरोप लगाया गया क‍ि ममता बनर्जी की मदद से अभिषेक ने अपनी फर्म का इस्‍तेमाल पोंजी स्कीम में किया। आरोप ये भी है कि कुछ ही सालों में इस फर्म का कारोबार 300 करोड़ रुपये तक पहुंच गया।

क्या कहा ममता बनर्जी ने?

सीबीआई की कार्रवाई के बाद ममता बनर्जी ने एक कार्यक्रम में कहा है कि वो डरने वाली नहीं हैं। उन्होंने एक सभा को संबोधित करते हुए कहा, ‘हमें जेल से डराने की कोशिश न करें, हमने बंदूकों के खिलाफ लड़ाई लड़ी है और हम चूहों के खिलाफ लड़ाई से नहीं डरते। जब तक मैं जिंदा हूं, मैं किसी डर या धमकी से नहीं डरने वाली।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here