नई दिल्ली। भारत में कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर एक बार फिर चिंता बढ़ गई है। नवंबर के बाद पिछले हफ्ते से देश में कोरोना के एक्टिव मामलों का ग्राफ फिर ऊपर चढ़ने लग गया है। पिछले 24 घंटे के अंदर 13 राज्य और केंद्र शासित प्रदेश ऐसे रहे, जहां रिकवरी से ज्यादा नए कोरोना मरीजों की पहचान हुई।

इन राज्यों में महाराष्ट्र, पंजाब, जम्मू-कश्मीर और चंडीगढ़ शामिल हैं। ऐसे में कई राज्यों में सख्ती बढ़ा दी गई है। कोरोना के बढ़ते प्रकोप के कारण महाराष्ट्र और राजस्थान ने कई जिलों में कर्फ्यू लगा दिया है। राजस्थान सरकार ने सोमवार रात को जोधपुर में धारा 144 लगा दी है यानी एक जगह पर एक साथ पांच से ज्यादा व्यक्ति इकट्ठा नहीं हो पाएंगे। जोधपुर में ये पाबंदी 21 मार्च तक रहेगी।

रविवार को देशभर में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 11 मिलियन यानी 1।1 करोड़ पार हो गया। इनमें से एक लाख केस बीते 65 दिनों में दर्ज किए गए हैं। भारत में बीते सप्ताह 15 से 21 फरवरी के बीच कोरोना के 1 लाख 990 ताजा मामले दर्ज हुए। पांच सप्ताह के बाद किसी हफ्ते में 1 लाख से अधिक मामले दर्ज किए गए। पिछले हफ्ते कोरोना के 77,284 नए मामले सामने आए थे, ऐसे में पिछले हफ्ते के तुलना में इस हफ्ते 31 फीसदी केस बढ़ गए।

महाराष्ट्र में कोरोना केस में इस हफ्ते 81 फीसदी की वृद्धि

कोरोना के सबसे ज्यादा मामले महाराष्ट्र में आ रहे हैं। इस हफ्ते 81 फीसदी की वृद्धि देखी गई। वहीं, भारत में पिछले हफ्ते तक औसतन (7 दिन के लिए) कोरोना मामलों की संख्या 11,430 थी जो इस हफ्ते के आंकड़ों के बाद बढ़कर 12,770 हो गया। हालांकि, हफ्ते दर हफ्ते होने वाली मौतों के आंकड़ों में स्थिरता देखी गई है। इस हफ्ते कोरोना से मरने वाली की संख्या 660 रही जो कि पिछले हफ्ते के मुकाबले 10 ज्यादा है।

महाराष्ट्र के इन जिलों में लगाई गई पाबंदियां: अमरावती समेत महाराष्ट्र के पांच जिलों में रविवार को आंशिक प्रतिबंध लगाए गए थे। ये शहर हैं- अमरावती, अकोला, बुलढाणा, वाशिम और यवतमाल। इन सभी जिलों में 7 दिनों का आंशिक लॉकडाउन पालन किया जाएगा। हालांकि, जरूरी सेवाओं पर ये लागू नहीं होगा। इसके अलावा अन्य सभी व्यावसायिक गतिविधियां शाम पांच बजे से सुबह नौ बजे तक बंद रहेंगी। अमरावती शहर में सात दिनों के लिए पूर्ण लॉकडाउन की घोषणा की गई है। कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए ये महत्वपूर्ण कदम उठाए गए हैं।

कर्नाटक के कालाबुरागी में ट्रैवेल एडवाइजरी जारी: कालाबुरागी जिला प्रशासन ने कोरोना को देखते हुए एक ट्रैवेल एडवाइजरी भी जारी किया है। कर्नाटक-महाराष्ट्र सीमा पर पांच चेक पोस्ट बनाए गए हैं। महाराष्ट्र से, जो लोगअफज़लपुरा और अलंद के रास्ते कर्नाटक में प्रवेश करते हैं, उन्हें अब आरटी-पीसीआर टेस्ट करानी होगी। इसकी रिपोर्ट नेगेटिव होने पर ही एंट्री मिलेगी।

राजस्थान में शादी में नहीं बुला पाएंगे 100 से ज्यादा मेहमान: जोधपुर पुलिस की ओर से जारी निर्देश के मुताबिक, कोरोना संकट के कारण अब शादी समारोह में 100 से ज्यादा मेहमान नहीं बुला सकेंगे। ये निर्देश 22 से 21 मार्च तक प्रभावी रहेगा।

मध्य प्रदेश और गुजरात में भी हाई अलर्ट: इसके साथ ही मध्य प्रदेश और गुजरात ने आस-पास के जिलों में भी हाई अलर्ट जारी कर दिया है। कोविड हाई रिस्क वाले राज्यों से यात्रा करने वाले सभी लोगों की थर्मल स्कैनिंग अनिवार्य कर दी गई है।

पूरे देश में हर दिन होने वाली टेस्टिंग में पिछले एक महीने में 5 लाख की गिरावट दर्ज की गई है। दिसंबर तक जहां, हर दिन 11 लाख के करीब लोगों की जांच होती थी, वहां अब औसतन 6 लाख लोगों का टेस्ट हो रहा है। राज्यों में कोरोना केस बढ़ने का एक बड़ा कारण टेस्टिंग की संख्या कम करना भी है। अब फिर से केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने इन सभी 9 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की सरकारों को चिट्ठी लिखकर टेस्टिंग बढ़ाने का आदेश दिया है।

बढ़ते मामलों की वजह से भारत एक बार फिर दुनिया के उन 15 देशों की सूची में शामिल हो गया है, जहां कोरोना के सबसे ज्यादा एक्टिव केस हैं। मतलब ऐसे मरीज जिनका इलाज चल रहा है, बाकी या तो ठीक हो चुके हैं या फिर उनकी मौत हो गई है। भारत इस सूची में 15वें नंबर पर आ गया है। 30 जनवरी को पुर्तगाल, इंडोनेशिया और आयरलैंड को पीछे छोड़ते हुए 17वें नंबर पर पहुंच गया था।

#NaToCorona#MissionZero#LargestVaccineDrive#VaccineMaitri#OdishaBudget2021#COVID19#PeoplesBudgetOdisha

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here