29 C
Mumbai
Sunday, July 25, 2021

दिल्‍ली में अब 3 बजे तक खुलेंगे बार, नई आबकारी नीति में हुए ये बड़े बदलाव

नई दिल्ली। दिल्ली सरकार ने शहर की नई आबकारी नीति को सार्वजनिक कर दिया है। राष्ट्रीय राजधानी के शराब व्यापारी संघ द्वारा दायर याचिका पर सुनवाई के बाद सोमवार शाम को विवरण सरकार की वेबसाइट पर अपलोड किया गया।

याचिकाकर्ताओं ने दस्तावेज अपलोड करने में देरी पर सवाल उठाया था।

नई नीति का उद्देश्य शहर के शराब व्यवसाय में व्यापक बदलाव लाना, भ्रष्‍टाचार को दूर करना और उपयोगकर्ता अनुभव में सुधार करना है।

मई में दिल्ली सरकार द्वारा अनुमोदित शराब नीति की मुख्य विशेषताएं इस प्रकार हैं:

यह नीति माइक्रोब्रेवरीज को बार को ड्राफ्ट बियर की आपूर्ति करने और टेकअवे सेवाएं प्रदान करने की अनुमति देती है। पॉलिसी दस्तावेज़ में कहा गया है, “जहां भी ड्राफ्ट बियर को टेकअवे के रूप में परोसा जा रहा है, वहां स्पष्ट रूप से इसकी छोटी शेल्फ लाइफ के बारे में जानकारी की आवश्यकता होगी और बोतलों को समाप्ति तिथि का स्पष्ट रूप से उल्लेख करना होगा।”

यह भी कहा गया है कि ड्राफ्ट बियर को अनुमति प्राप्त कार्यक्रमों, बैंक्वेट हॉल में भी परोसने की अनुमति दी जाएगी, जिनके पास अस्थायी लाइसेंस जैसे पी-10, पी-10 ई इत्यादि हैं। नीति में स्पष्ट रूप से कहा गया है कि स्थापनाएं ड्राफ्ट बियर बेच रही हैं, इसकी समाप्ति तिथि के बाद उसका लाइसेंस तुरंत रद्द किया जाए।”

हालांकि, इसने शराब पीने की कानूनी उम्र को 25 साल से घटाकर 21 साल करने के बारे में कोई जिक्र नहीं किया।

आबकारी नीति लाइसेंस प्राप्त होटलों और रेस्तरां में छत, बालकनी जैसे खुले स्थानों में शराब परोसने की भी सिफारिश करती है।

नई नीति के साथ, सरकार खुदरा शराब के व्यापार से बाहर निकलने की कोशिश कर रही है, जिससे राज्य द्वारा संचालित दुकानें बंद हो जाएंगी। आम आदमी पार्टी (आप) सरकार कारोबार में निजी खिलाड़ियों को बढ़ावा देने की कोशिश कर रही है।

कोरोना वायरस रोग (कोविड-19) प्रोटोकॉल को ध्यान में रखते हुए नई नीति में एक दुकान के बाहर या फुटपाथ पर भीड़ और काउंटर के माध्यम से खरीददारी करने पर सख्ती से रोक है।

दिल्ली सरकार के सुधारों से होटल, रेस्तरां और क्लब में बार भी सुबह 3 बजे तक चल सकेंगे।

नई नीति में शहर में खुदरा शराब के ठेकों की संख्या 849 कर दी गई है। इनमें पांच सुपर प्रीमियम खुदरा विक्रेता शामिल हैं, जिनका न्यूनतम कालीन क्षेत्र 2,500 वर्ग फुट होगा।

सुपर प्रीमियम विक्रेता बीयर के लिए केवल ₹200 एमआरपी से अधिक और अन्य सभी ₹1,000 खुदरा मूल्य से अधिक उत्पाद बेच सकते हैं, जिसमें व्हिस्की, जिन, वोदका, ब्रांडी आदि शामिल हैं, लेकिन इन्हीं तक सीमित नहीं है।

नई नीति के साथ, दिल्ली सरकार को उम्मीद है कि एक साल में उसके राजस्व में 20 प्रतिशत की वृद्धि होगी।

Related Articles

मुफ्त पेट्रोल तथा गुलाब भेंट कर ईधन मूल्यवृद्धि का जताया विरोध

उपमुख्यमंत्री अजीत पवार के जन्मदिन पर ममता शर्मा का अनूठा कार्यक्रम मुंबई। महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजीत पवार के जन्मदिन...

सजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पद पर विनोद मिश्रा की नियुक्ति

मुंबई। सामान्य जन पार्टी (सजपा) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पद पर वरिष्ठ पत्रकार विनोद मिश्रा की नियुक्ति की गई। हाल ही में मीरा-भायंदर...

स्ट्रीट स्कूल के बच्चों को शैक्षणिक सामग्री का वितरण

मुंबई। सामाजिक कार्यों में अग्रणी मीरा-भायंदर की जनसेवी संस्था सक्षम फाउंडेशन की ओर से नयी पहल स्ट्रीट स्कूल, कनकिया रोड, मीरारोड के...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

22,042FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

मुफ्त पेट्रोल तथा गुलाब भेंट कर ईधन मूल्यवृद्धि का जताया विरोध

उपमुख्यमंत्री अजीत पवार के जन्मदिन पर ममता शर्मा का अनूठा कार्यक्रम मुंबई। महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजीत पवार के जन्मदिन...

सजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पद पर विनोद मिश्रा की नियुक्ति

मुंबई। सामान्य जन पार्टी (सजपा) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पद पर वरिष्ठ पत्रकार विनोद मिश्रा की नियुक्ति की गई। हाल ही में मीरा-भायंदर...

स्ट्रीट स्कूल के बच्चों को शैक्षणिक सामग्री का वितरण

मुंबई। सामाजिक कार्यों में अग्रणी मीरा-भायंदर की जनसेवी संस्था सक्षम फाउंडेशन की ओर से नयी पहल स्ट्रीट स्कूल, कनकिया रोड, मीरारोड के...

भाजपा ने किया नागरिकों के लिये रेलवे प्रवास की अनुमति देने की मांग

कोरोना टिका के दो डोज लगवा चुके, नागरिकों को रेलवे प्रवास में अनुमति देने की मांग उत्तर मुंबई में बोरीवली...