28 C
Mumbai
Thursday, June 24, 2021

इकोसिस्टम संरक्षण: सौर ऊर्जा और ऊर्जा बचत एलईडी

मुंबई। रेलवे पर्यावरण में सुधार हेतु योगदान देने के लिए प्रतिबद्ध है। इस दिशा में, यह पर्यावरण के अनुकूल उपायों जैसे अक्षय ऊर्जा के उपयोग जिसमें शामिल पवन और सौर ऊर्जा पर ध्यान केंद्रित किया जा रहा है। भारतीय रेल ने 1,000 से अधिक स्टेशनों और 400 सर्विस भवनों में लगभग 114 मेगावाट सौर रूफटॉप संयंत्र स्थापित किए हैं और 2030 तक शून्य शुद्ध कार्बन उत्सर्जक बनने की योजना है।

मुख्य जनसंपर्क अधिकारी मध्य रेल ने जानकारी देते हुए‌ कहा कि भारतीय रेल के सभी रेलवे प्रतिष्ठानों और भवनों (20,000 से अधिक) मई 2020 में भारतीय रेल के सभी आवासीय क्वार्टर को भी एलईडी में बदल दिया गया है।मध्य रेल में छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस सहित 5 रेलवे स्टेशन हैं जिन्हें इंडियन ग्रीन बिल्डिंग काउंसिल (IGBC) प्रमाणन मिला है।

Related Articles

कोरोना को केवल मुंबई ही नही बल्कि पूरे देश से जाना होगा : भाजपा नेता अमरजीत मिश्र

मुंबई। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र भाई मोदी जिस साहस और मनोबल से कोरोना कोविड--19 की महामारी का मुकाबला कर रहे हैं उसकी...

राजावाडी अस्पताल में भर्ती मरीज को चूहों ने काटा

महापौर ने किया अस्पताल का दौरा मुंबई। मुंबई के प्रसिद्ध राजावाडी अस्पताल में भर्ती एक मरीज को रात में...

गोवंडी से 10 मुस्लिम अपराधी किए गए तड़ीपार

जनता में खुशी का माहौल मुंबई। शिवाजी नगर पुलिस की हद में बढ़ते अपराध को रोकने के लिए...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

22,042FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

कोरोना को केवल मुंबई ही नही बल्कि पूरे देश से जाना होगा : भाजपा नेता अमरजीत मिश्र

मुंबई। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र भाई मोदी जिस साहस और मनोबल से कोरोना कोविड--19 की महामारी का मुकाबला कर रहे हैं उसकी...

राजावाडी अस्पताल में भर्ती मरीज को चूहों ने काटा

महापौर ने किया अस्पताल का दौरा मुंबई। मुंबई के प्रसिद्ध राजावाडी अस्पताल में भर्ती एक मरीज को रात में...

गोवंडी से 10 मुस्लिम अपराधी किए गए तड़ीपार

जनता में खुशी का माहौल मुंबई। शिवाजी नगर पुलिस की हद में बढ़ते अपराध को रोकने के लिए...

वर्षा ऋतु में वर्षा तिवारी ‘बिजुरी ‘के पहल पर मप्र के पटल पर हुआ 51 कलमकारगणो का रस बरसात

भोपाल। इतनी विकट परिस्थितियों में भी तन मन और धन से साहित्य की सेवा करने वाली साहित्यिक हिन्दी मासिक पत्रिका सामयिक परिवेश...