26 C
Mumbai
Friday, January 28, 2022

COVID 19: थर्डवेव से निपटने की केजरीवाल सरकार कर रही तैयारी, इन जगहों पर तैयार हो रहे हजारों ICU बेड्स

नई दिल्ली. कोरोना की संभावित तीसरी लहर से निपटने के लिए दिल्ली सरकार (Delhi Government) अपने हेल्थ सिस्टम को और मजबूत करने की हरसंभव कोशिश में जुटी हुई है. अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट (Oxygen Plant) लगाने से लेकर उनमें सामान्य बेड्स और आईसीयू व वेंटीलेटर बेड्स बढ़ाने को प्रयासरत है. साथ ही दिल्ली में अस्थाई अस्पताल बनाने पर भी विशेष जोर दिया जा रहा है. फिलहाल सरकार ने राजधानी की कई विधानसभाओं के अलग-अलग एरिया में सात अस्थाई अस्पताल बनाने का फैसला किया है. इसकी वित्तीय अनुमति दिल्ली के वित्त मंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) की ओर से भेज दे दी गई है.

ये भी पढ़ें:Covid 19: थर्ड वेव से पहले अस्पतालों में बढ़ने लगे पोस्ट कोविड मरीज, नहीं मिल रहे बेड

इस बीच देखा जाए तो 7 अस्थाई अस्पतालों के निर्माण के लिए वित्तीय मंजूरी लेने के सिलसिले में दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन (Satyendar Jain) ने डिप्टी सीएम और वित्त मंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) से मुलाकात भी की. सिसोदिया में इन अस्थाई अस्पतालों के निर्माण को भविष्य की बड़ी जरूरत के रूप में बताया है. उन्होंने यह भी कहा है कि हम वास्तव में इस परियोजना के बारे में आशावादी हैं और यह दिल्ली के लोगों को सर्वोत्तम स्वास्थ्य सुविधा देने की हमारी प्रतिबद्धता का हिस्सा है.

ये भी पढ़ें:Delhi में अब भ्रष्ट अफसरों की खैर नहीं, मुख्य सचिव ने जारी किए ये ‘कड़े आदेश’

स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन की माने तो इन 7 अस्थाई अस्पतालों का निर्माण अगले 6 महीने के भीतर पूरा कर लिया जाएगा वहीं इन अस्पतालों में 7000 आईसीयू से लैस बेड उपलब्ध हो सकेंगे यह आईसीयू बेड दिल्ली के स्वास्थ्य ढांचे को कोविड-19 (COVID-19) के खिलाफ लड़ाई के लिए मजबूत बनाएंगे.

इन 7 जगहों पर किया जाएगा अस्थाई अस्पतालों का निर्माण

बताते चलें कि दिल्ली सरकार की ओर से जिन सात जगहों पर अस्थाई अस्पतालों का निर्माण किया जाना है, उनमें सरिता विहार, शालीमार बाग, सुल्तानपुरी, किराड़ी, रघुवीर नगर, जीटीबी अस्पताल और चाचा नेहरू बाल चिकित्सालय प्रमुख रूप से शामिल हैं. इन जगहों पर दिल्ली सरकार अस्थाई अस्पतालों का निर्माण कर आईसीयू बेड की कमी को पूरा करने की तैयारी कर रही है.

दीर्घकालिक दृष्टिकोण से किया जा रहा है अस्थाई अस्पतालों के निर्माण

अस्थाई अस्पतालों के निर्माण को लेकर दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन का कहना है कि इसके लिए सभी संबंधित विभाग युद्ध स्तर पर काम करेंगे. हालांकि ये अस्पताल अस्थायी प्रकृति के हैं, लेकिन इनका निर्माण दीर्घकालिक दृष्टिकोण से किया जा रहा है क्योंकि कोविड-19 (COVID-19) हमारे बीच अभी काफी समय तक रहने वाला है.

ये भी पढ़ें:रूस के साइबर ग्रुप्स ने भारत को बनाया निशाना, वैक्सीन को लेकर फैलाया झूठ: फेसबुक रिपोर्ट

इस तरह से बनाया जाएगा अस्पतालों का स्ट्रक्चर

मंत्री जैन ने यह भी कहा कि समय बचाने के लिए, बहुमंजिला अस्पतालों के भवनों को खोखले ‘माइल्ड स्टील’ चौकोर या आयताकार ट्यूब स्टील संरचनाओं के रूप में बनाया जाएगा. इन संरचनाओं में कंक्रीट सीमेंट राफ्ट या पृथक नींव होगी जो पूरी इमारत का मजबूती प्रदान करेगी. अस्थायी अस्पतालों का निर्माण पीडब्ल्यूडी द्वारा किया जाएगा.

इसके अलावा दिल्ली सरकार कोरोना की थर्डवव से बचाव के लिए सरकारी अस्पतालों में रीमॉडलिंग हेल्थ केयर सिस्टम (Remodelling Health Care System) के तहत कई हजार बेड बढ़ाने का काम भी कर रही है.

साथ ही कई नये अस्पतालों के निर्माण कार्य को जल्द से जल्द पूरा कराने का प्रयास भी किया जा रहा है. सरकार कुल 14 नये-पुराने सरकारी अस्पतालों में निर्माण कार्य पूरा कर इनमें करीब 5,000 बेड्स की बढ़ोतरी कर पाएगी.

ये भी पढ़ें:Coronavirus In India: फिर बढ़े कोरोना मामले, 24 घंटे में 41,195 नए केस; 490 लोगों की मौत

स्वास्थ्य विभाग की माने तो सरकार सिरसपुर में 1,168 बेड्स का नया अस्पताल बना रही है. लोक नायक जयप्रकाश अस्पताल (LNJP) में 1,500 बेड का एक नया ब्लॉक तैयार किया जा रहा है. मादीपुर और ज्वालापुरी में भी दो नये अस्पतालों का निर्माण किया जा रहा है. इससे आसपास के लोगों को स्वास्थ्य सेवाओं का बड़ा लाभ मिल सकेगा.

रीमॉडलिंग योजना के तहत इन अस्पतालों में हो रहा नये ब्लॉकों का निर्माण

स्वास्थ्य सेवाओं के रीमॉडलिंग योजना में जिन अस्पतालों में नये ब्लॉकों का निर्माण करके मौजूदा बेड्स की संख्या में बढ़ोतरी की जा रही है उनमें बाबा साहब अंबेडकर अस्पताल, संजय गांधी मेमोरियल अस्पताल, डॉक्टर हेडगेवार आरोग्य संस्थान, लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल, अरुणा आसफ अली अस्पताल, भगवान महावीर अस्पताल, श्री दादा देव मैत्री एवं शिशु चिकित्सालय, गुरु गोविंद सिंह अस्पताल, आचार्य श्री भिक्षु अस्पताल और राव तुलाराम मेमोरियल अस्पताल प्रमुख रूप से शामिल हैं. इनमें बड़ी संख्या में बेड की बढ़ोतरी की जा रही है.संभावना जताई जा रही है अगले एक से डेढ़ साल के भीतर अस्पतालों का निर्माण कार्य पूरा हो जाएगा.

Related Articles

तिलक नगर पुलिस के निर्भया पथक ने आठ साल के बच्चे को उसके परिजनों से मिलाया

मुंबई। चेंबूर अमर पुल के नीचे परेशान हैरान अकेला इधर उधर भटक रहे एक आठ साले बच्चे को अपने कब्जे में लेकर...

उन्नाव रोड पर रोमांस करते वायरल हुआ पाखी हेगड़े और विक्रांत सिंह राजपूत की तस्वीरें

उन्नाव में चल रही है मनोज टाइगर निर्देशित फ़िल्म 'मझधार' की शूटिंग भोजपुरी सिनेमा के फिटेनस आइकॉन विक्रांत सिंह...

घाटकोपर निवासी एएसआई को राष्ट्रपति पुरस्कार

रवि निषाद/मुंबई। मुंबई के तिलकनगर पुलिस थाने में कार्यरत घाटकोपर निवासी एएसआई लहुजी राउत को उनके द्वारा किए गए सराहनीय कार्यो के...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

22,042FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

तिलक नगर पुलिस के निर्भया पथक ने आठ साल के बच्चे को उसके परिजनों से मिलाया

मुंबई। चेंबूर अमर पुल के नीचे परेशान हैरान अकेला इधर उधर भटक रहे एक आठ साले बच्चे को अपने कब्जे में लेकर...

उन्नाव रोड पर रोमांस करते वायरल हुआ पाखी हेगड़े और विक्रांत सिंह राजपूत की तस्वीरें

उन्नाव में चल रही है मनोज टाइगर निर्देशित फ़िल्म 'मझधार' की शूटिंग भोजपुरी सिनेमा के फिटेनस आइकॉन विक्रांत सिंह...

घाटकोपर निवासी एएसआई को राष्ट्रपति पुरस्कार

रवि निषाद/मुंबई। मुंबई के तिलकनगर पुलिस थाने में कार्यरत घाटकोपर निवासी एएसआई लहुजी राउत को उनके द्वारा किए गए सराहनीय कार्यो के...

कोरोनाकाल के बावजूद भी इस पत्रिका के स्थापना दिवस समारोह में नहीं रही कोई हर्षोल्लास की कमी, गूगल मीट पर आयोजन संपन्न

By:R.B.S parmar पटना। सामायिक परिवेश हिंदी पत्रिका का स्थापना दिवस समारोह का ऑनलाईन आयोजन दिनांक 27जनवरी 2022 को संध्या...

celebrating Azadi ka Amrit Mahotsav For empowering women IEA Book of World Record Award से कहां की महिलाकर्मी इस बार हुई सम्मानित,जानें यहाँ…

By:R.B.Singh Parmar मुंबई । महानगर के मुलुंड पश्चिम से संचालित (IEA Book of World Records) International Excellence Award में...