30 C
Mumbai
Wednesday, January 19, 2022

फूड डिलीवरी करने वाली यह महिला अब कांग्रेस के टिकट पर लड़ेंगी चुनाव

नई दिल्‍ली. कर्नाटक (Karnataka) में एक कंपनी में बतौर फूड डिलीवरी महिला (Food Delivery Woman) के रूप में काम करने वाली मेघना दास (Meghna Das) अब मंगलुरु सिटी कॉरपोरेशन (Mangaluru City Corporation) का चुनाव लड़ने जा रही हैं. उन्‍हें कांग्रेस (Congress) ने टिकट दिया है. इस पर उन्‍होंने कहा कि वह मन्‍नागद्दा वार्ड (वार्ड संख्‍या 28) से चुनाव लड़ेंगी. इसके लिए उन्‍होंने 31 अक्‍टूबर को नामांकन भी दाखिल कर दिया है.

कांग्रेस की टिकट पर चुनाव लड़ने जा रहीं मेघना दास का कहना है कि उन्‍हें कोई उम्मीद नहीं थी कि उन्‍हें चुनाव लड़ने के लिए टिकट मिलेगा, लेकिन उन्‍हें भगवान पर पूरा भरोसा था.

Karnataka: A food delivery executive, Meghna Das, is contesting Mangaluru City Corporation polls.She says,”I had fallen off due to bad roads & there are safety issues also. I was convinced that since I travel a lot everyday and know the problems closely, I can serve people”. pic.twitter.com/giFkmxC7lk

— ANI (@ANI) November 10, 2019


उनके अनुसार वे फूड डिलीवरी के लिए खूब ट्रैवल करती हैं, ऐसे में उन्‍हें लोगों की समस्‍या पता हैं. वह उनकी समस्‍या दूर करने का पूरा प्रयास करेंगी.

मेघना के अनुसार यहां पर जर्जर सड़कों के अलावा सुरक्षा व्‍यवस्‍था को लेकर भी समस्‍याएं हैं. उनके अनुसार उन्‍हें रोजाना लोगों की काफी समस्‍याएं देखने को मिलती हैं. वह इन सभी समस्‍याओं को दूर करना चाहती हैं. मेघना ने चुनाव के लिए तैयारियां भी कर ली हैं. उन्‍होंने अपने वार्ड में घर-घर जाकर चुनाव प्रचार भी करना शुरू कर दिया है. उनको पूरा भरोसा है कि चुनाव में उनकी जीत होगी.

यह भी पढ़ें: महाराष्ट्र LIVE: राज्यपाल से 2:30 बजे मिलेगी शिवसेना, शरद पवार ने फंसाया पेंच

Related Articles

बाइक चोर का आरोपी निकला मोबाइल चोर

रवि निषाद/मुंबई। पंतनगर पुलिस की हद से चोरी हुए एक पल्सर 220 बाइक के आरोपी को पुलिस ने करीब एक साल बाद...

घाटकोपर के फुटपाथ हुए फेरी वालो के कब्जे में

बिना परवाना धड़ल्ले से चल रहे अवैध धंधे मुंबई। मनपा एन विभाग का फेरीवालों का उड़नदस्ता मतलब चोर गाडी...

राजस्थान के इस सरकारी अस्पताल में नवजातों और प्रसूताओं पर दौड़ते हैं चूहे, काट लेते हैं अंगुली

Sirohi latest news: कोरोना महामारी के बीच सिरोही के जनाना अस्पताल (Janana Hospital) में चूहों ने आतंक मचा रखा है. जनाना अस्पताल के प्रसूती वार्ड में इन चूहों को प्रसूताओं और नवजातों के ऊपर दौड़ते हुये देखा जा सकता है. कोरोना प्रोटोकॉल की पालना का दावा करने वाले इस अस्पताल में अव्यवस्थाओं का ऐसा आलम है कि यहां आने वाला मरीज यहां ठीक होने की बजाय और बीमार हो जाता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

22,042FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

बाइक चोर का आरोपी निकला मोबाइल चोर

रवि निषाद/मुंबई। पंतनगर पुलिस की हद से चोरी हुए एक पल्सर 220 बाइक के आरोपी को पुलिस ने करीब एक साल बाद...

घाटकोपर के फुटपाथ हुए फेरी वालो के कब्जे में

बिना परवाना धड़ल्ले से चल रहे अवैध धंधे मुंबई। मनपा एन विभाग का फेरीवालों का उड़नदस्ता मतलब चोर गाडी...

राजस्थान के इस सरकारी अस्पताल में नवजातों और प्रसूताओं पर दौड़ते हैं चूहे, काट लेते हैं अंगुली

Sirohi latest news: कोरोना महामारी के बीच सिरोही के जनाना अस्पताल (Janana Hospital) में चूहों ने आतंक मचा रखा है. जनाना अस्पताल के प्रसूती वार्ड में इन चूहों को प्रसूताओं और नवजातों के ऊपर दौड़ते हुये देखा जा सकता है. कोरोना प्रोटोकॉल की पालना का दावा करने वाले इस अस्पताल में अव्यवस्थाओं का ऐसा आलम है कि यहां आने वाला मरीज यहां ठीक होने की बजाय और बीमार हो जाता है.

शेयर बाजार में आपकी हेल्प के लिए SEBI ने उतारा अपना सारथी, यूं आएगा आपके काम

Saarthi Mobile App: SEBI ने निवेशकों को शिक्षा देने वाला एक मोबाइल ऐप सारथी (Saa₹thi) लॉन्च किया. यह ऐप युवा निवेशकों को ऐसी-ऐसी जानकारियां देगा, जिससे कि शेयर बाजार में आपका सफर आसान हो जाएगा.

क्या वैज्ञानिकों ने मंगल ग्रह पर जीवन ढूंढ़ लिया? क्यूरोसिटी को मिले कॉर्बन के संकेत

Scientists find carbon on Red Planet: वैज्ञानिकों ने कहा कि हो सकता है कि बारिश के चलते ये कण सतह पर गिरे और फिर सतह के अंदर मंगल ग्रह की चट्टानों में लंबे समय के लिए सुरक्षित हो गए हों. हालांकि एक और दलील में कहा गया है कि मंगल ग्रह पर मिले कॉर्बन सिग्नेचर अल्ट्रावॉयलेट किरणों और कॉर्बन डाई ऑक्साइड के संपर्क में आने का परिणाम हो सकते हैं, जिसने मंगल ग्रह के वायुमंडल में कॉर्बन पैदा किया हो और फिर ये कण मंगल ग्रह की सतह पर जम गए हों.