29 C
Mumbai
Wednesday, September 22, 2021

कर्नाटक में बीजेपी-कांग्रेस में छिड़ा ट्विटर युद्ध, इंदिरा कैंटीन का नाम बना वजह; निशाने पर खेल रत्न अवॉर्ड

बेंगलुरु. कर्नाटक में इंदिरा कैंटीन (Indira Canteens) के नाम को लेकर भारतीय जनता पार्टी (BJP) और कांग्रेस (Congress) में तकरार तेज हो गई है. बीते शनिवार को दोनों पार्टियों के नेताओं के बीच ट्विटर पर जमकर बयानबाजी हुई. राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया (Siddaramaiah) ने बीजेपी सरकार पर ‘ओछी राजनीति’ में शामिल नहीं होने के लिए कहा है. इस दौरान उन्होंने राजीव गांधी खेल रत्न अवॉर्ड का नाम मेजर ध्यानचंद के नाम पर रखे जाने पर भी बीजेपी सरकार पर सवाल उठाया है.

बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव सीटी रवि ने ट्विटर पर राज्य के मुख्यमंत्री बासवराज बोम्मई को इंदिरा कैंटीन का नाम जल्द से जल्द बदलने के लिए कहा था. उन्होंने लिखा, ‘मुख्यमंत्री बासवराज बोम्मई से निवेदन है कि पूरे कर्नाटक में इंदिरा कैंटीन का नाम बदलकर अन्नपूर्णेश्वरी कैंटीन जल्दी से जल्दी किया जाए. इसका कोई कारण नजर नहीं आता है कि क्यों कन्नडिगों को भोजन करते समय इमरजेंसी के काले दिनों की याद दिलाई जाए.’

यह भी पढ़ें: मध्य प्रदेश विधानसभा ने नकली शराब से मौत होने पर फांसी की सजा का विधेयक किया पास, 25 लाख तक होगा जुर्माना

कांग्रेस बोली- यह परंपरा रही है

इसपर सिद्धारमैया ने कहा, ‘राष्ट्रीय नेताओं के नाम पर सड़कों और सरकारी भवनों का नाम रखना परंपरा है. क्या बीजेपी उस स्टेडियम का नाम बदलेगी, जिसका नाम नरेंद्र मोदी के नाम पर रखा गया है? फ्लायओवर, जिसका नाम दीनदयाल उपाध्याय और सिटी बस कॉर्पोरेशन का नाम वाजपेजी के नाम पर रखा गया है? क्या बीजेपी इनके नाम बदलेगी?’

उन्होंने समझाया, ‘श्रीमति इंदिरा गांधी ने गरीबी हटाने के लिए सुधारों की शुरुआत की और जमीन सुधार अधिनियम लागू किया. उनके योगदान का सम्मान करने के लिए कैंटीन का नाम उनके नाम पर रखा गया था. उनके योगदान को याद रखने में गलत क्या है?’ उन्होंने कहा कि कर्नाटक बीजेपी को ओछी राजनीति और इंदिरा कैंटीन का नाम बदलने की कोशिश नहीं करनी चाहिए.

कांग्रेस नेता दिनेश गुंडू राव ने कहा, ‘यह इंदिरा कैंटीन नहीं, आपका दुष्ट मानसिकता है जिसमें बदलाव की जरूरत है.’ उन्होंने कहा, ‘सीटी रवि जो नफरत के दूत की तरह है, उन्होंने सीएम पर इंदिरा कैंटीन का नाम बदलने का दबाव डाला है. अगर गरीब लोगों की भूख नाम बदलने से पूरी हो जाती है, तो मुझे इससे कोई आपत्ति नहीं है. बीजेपे सरकार ने इंदिरा कैंटीन के अनुदान को रोक दिया है. जो चीज बदले जाने की जरूरत है, वह सीटी रवि की बुरी मानसिकता है इंदिरा कैंटीन का नाम नहीं.’

Related Articles

खेसारी लाल यादव की बापजी से आएगा रोमेंटिक सांग ‘लव वाला डोज़’

वर्ल्डवाइड रिकार्ड्स भोजपुरी के ऑफिसियल यूट्यूब चैनल से सुपरस्टार खेसारी लाल यादव और ऋतु सिंह अभिनीत भोजपुरी फिल्म ‘बाप जी’ का सबसे...

पीठ में छुरा घोंपने वाले शिवसैनिकों के ‘गुरु’ नहीं हो सकते : अनंत गीते 

मुंबई। शिवसेना नेता अनंत गीते ने शरद पवार पर हमला बोलते हुए कहा कि जिन्होंने अपनी पार्टी बनाने के लिए कांग्रेस की...

मां-बाप से ज्यादा दुनिया में कुछ भी नहीं : अखिलेश सिंह

मुंबई। केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) के पुलिस निरीक्षक अखिलेश सिंह ने कहा है कि आज मैं कपिल शर्मा का एक शो...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

22,042FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

खेसारी लाल यादव की बापजी से आएगा रोमेंटिक सांग ‘लव वाला डोज़’

वर्ल्डवाइड रिकार्ड्स भोजपुरी के ऑफिसियल यूट्यूब चैनल से सुपरस्टार खेसारी लाल यादव और ऋतु सिंह अभिनीत भोजपुरी फिल्म ‘बाप जी’ का सबसे...

पीठ में छुरा घोंपने वाले शिवसैनिकों के ‘गुरु’ नहीं हो सकते : अनंत गीते 

मुंबई। शिवसेना नेता अनंत गीते ने शरद पवार पर हमला बोलते हुए कहा कि जिन्होंने अपनी पार्टी बनाने के लिए कांग्रेस की...

मां-बाप से ज्यादा दुनिया में कुछ भी नहीं : अखिलेश सिंह

मुंबई। केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) के पुलिस निरीक्षक अखिलेश सिंह ने कहा है कि आज मैं कपिल शर्मा का एक शो...

इंजीनियरिंग के विद्यार्थियों ने किया हिंदी काव्य पाठ

मुंबई।  वसई के विद्यावर्धिनी कॉलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलोजी के लिटरेरी क्लब ने हिंदी दिवस के उपलक्ष्य में कवि सम्मेलन का ऑनलाइन...

पवई के विद्यार्थियों के फीस का मसला हुआ हल

आरपी आई की तरफ से पवई इंग्लिश स्कूल को दिए गए 5 लाख की आर्थिक मदद मुंबई। कोरोना महामारी...