27 C
Mumbai
Friday, September 17, 2021

ISRO EOS-3 Launch News: ISRO से कहां हुई चूक? जानें किन वजहों से फेल हो गया अहम मिशन EOS-3

श्रीहरिकोटा. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने गुरुवार सुबहअर्थ ऑबजर्सेवेशन सैटेलाइट EOS-3 का सफलतापूर्वक लॉन्च किया लेकिन कुछ देर बाद मिशन झटका लग गया. रॉकेट के क्रायोजेनिक स्टेज में आई तकनीकी खराबी के कारण मिशन पूरा नहीं हो सका. 51.70 मीटर लंबे रॉकेट GSLV0F10/ EOS-3 ने 26 घंटे की उलटी गिनती खत्म होने के तुरंत बाद सुबह 05.43 बजे सफलतापूर्वक लॉन्च हुआ था. लिफ्ट-ऑफ से पहले, लॉन्च ऑथराइजेशन बोर्ड ने योजना के अनुसार सामान्य लिफ्ट-ऑफ के लिए डेक को मंजूरी दे दी. मिशन कंट्रोल सेंटर के वैज्ञानिकों ने कहा कि रॉकेट के पहले और दूसरे स्टेज में सब कुछ सामान्य रहा. कुछ मिनट बाद जब दिक्कत आई तो वैज्ञानिकों ने आपस में चर्चा की. इसके बाद मिशन कंट्रोल सेंटर में रेंज ऑपरेशंस डायरेक्टर द्वारा इसकी घोषणा की गई ‘रॉकेट के परफॉर्मेंस में दिक्कत के कारण मिशन पूरी तरह से पूरा नहीं किया जा सका.’

क्या कहा ISRO चीफ ने?

इस बाबत मिशन कंट्रोल सेंटर में रेंज ऑपरेशंस के निदेशक ने घोषणा की, ‘क्रायोजेनिक स्टेज में दिक्कत पाई गई. मिशन पूरी तरह से सफल नहीं हुआ.’ बाद में ISRO के अध्यक्ष के सिवन ने कहा, ‘ क्रायोजेनिक स्टेज में तकनीकी खराबी की वजह से मिशन पूरी तरह सफल नहीं रहा.’ इसके साथ ही ISRO ने कहा- ‘तकनीकी दिक्कतों के कारण क्रायोजेनिक अपर स्टेज इग्निशन नहीं हुआ, मिशन को मंशा के मुताबिक पूरा नहीं किया जा सका.’

#WATCH | Indian Space Research Organisation’s GSLV-F10 lifts off successfully from Satish Dhawan Space Centre, Sriharikota (Source: DD) pic.twitter.com/2OV8iA06Xf

— ANI (@ANI) August 12, 2021

बता दें अर्थ ऑब्जर्वेशन सैटेलाइट (EOS) की मुख्य विशेषता यह है कि यह चिन्हित किये गए किसी बड़े क्षेत्र की वास्तविक समय की तस्वीर लगातार अंतराल पर भेजा करता. यह प्राकृतिक आपदाओं के साथ-साथ किसी भी तरह की अल्पकालिक घटनाओं की त्वरित निगरानी में मदद करता.यह उपग्रह कृषि, वानिकी, जल निकायों के साथ-साथ आपदा चेतावनी, चक्रवात निगरानी, बादल फटने या आंधी-तूफान की निगरानी सहित विभिन्न क्षेत्रों में प्रयोग लाने के लिए महत्वपूर्ण जानकारी देता.

Related Articles

माहिम बीच का बदला नजारा

मुंबई। मुंबई के ऐतिहासिक भूमि और मछुआरों का गढ़ माहिम के बीच (समुन्द्र तटीय क्षेत्र) को अब पर्यटन की दृष्टि से बेहतरीन...

‘लिपस्टिक का Color चेंज किजिए’ में दिखेगा नीलकमल सिंह और प्रगति भट्ट का जलवा

हो जाईये तैयार आ रहा है भोजपुरी इंडस्ट्री के बवाल सिंगर नीलकमल सिंह और सुपर सिंगर प्रियंका सिंह की आवाज में नया...

घाटकोपर पूर्व के श्री विघ्नेश्वर मित्र मंडल के गणेशोत्सव का रजत जयंती वर्ष

मुंबई। घाटकोपर पूर्व के राजावाडी स्थित श्री विघ्नेश्वर मित्र मंडल के गणेशोत्सव का इस बार २५वा वर्ष है। जिसके कारण रजत जयंती...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

22,042FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

माहिम बीच का बदला नजारा

मुंबई। मुंबई के ऐतिहासिक भूमि और मछुआरों का गढ़ माहिम के बीच (समुन्द्र तटीय क्षेत्र) को अब पर्यटन की दृष्टि से बेहतरीन...

‘लिपस्टिक का Color चेंज किजिए’ में दिखेगा नीलकमल सिंह और प्रगति भट्ट का जलवा

हो जाईये तैयार आ रहा है भोजपुरी इंडस्ट्री के बवाल सिंगर नीलकमल सिंह और सुपर सिंगर प्रियंका सिंह की आवाज में नया...

घाटकोपर पूर्व के श्री विघ्नेश्वर मित्र मंडल के गणेशोत्सव का रजत जयंती वर्ष

मुंबई। घाटकोपर पूर्व के राजावाडी स्थित श्री विघ्नेश्वर मित्र मंडल के गणेशोत्सव का इस बार २५वा वर्ष है। जिसके कारण रजत जयंती...

मध्य रेल पर स्वच्छता शपथ के साथ स्वच्छता पखवाड़ा-2021 शुरू

मुंबई। श्री अनिल कुमार लाहोटी, महाप्रबंधक, मध्य रेल ने दिनांक 16.9.2021 को पुणे मंडल के निरीक्षण के दौरान मिरज रेलवे स्टेशन पर...

साकीनाका में बलात्कार ओर हत्या के बाद लड़कियों की सुरक्षा को लेकर अभिभावकों में चिंता

मुंबई। महिलाओं की सुरक्षा की दृष्टि से देश की आर्थिक राजधानी मुंबई को काफी सुरक्षित माना जाता है लेकिन पिछले दिनों साकीनाका...