27 C
Mumbai
Monday, November 29, 2021

ताकतवर वॉरलॉर्ड इस्माइल खान तालिबान के कब्जे में, अब अफगानिस्तान में क्या होगा?

नई दिल्ली. अफगानिस्तान पर दूसरी बार नियंत्रण के लिए आगे बढ़ रहे तालिबान (Taliban) ने बड़े वारलॉर्ड इस्माइल खान (Warlord Ismail Khan) को बंधक बना लिया है. इस्माइल के साथ तालिबान ने काबुल के कुछ अधिकारियों और दो हेलिकाप्टर भी अपने कब्जे में ले लिए हैं. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक अधिकारियों को कई जगहों से उठाया गया है. हालांकि तालिबान ने अभी तक इस मामले में कई कमेंट नहीं किया है.

75 साल के इस्माइल खान अफगानिस्तान में बड़ी हैसियत रखते हैं. उन्होंने अमेरिका की सेना के साथ 2001 में तालिबान को खदेड़ने में मदद की थी. उन्होंने एक बार फिर तालिबान के खिलाफ हथियार उठाने का ऐलान किया था. दरअसल तालिबान पश्चिमी अफगानिस्तान में इस्माइल के गढ़ हेरात के करीब पहुंच गया था. इसके बाद ही इस्माइल ने दोबारा हथियार उठाने का फैसला किया था.

करजई सरकार में थे मंत्री, पहले भी बंधक बना चुका है तालिबान

अफगानिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति हामिद करजई की सरकार में इस्माइल खान मंत्री थे. इससे पहले भी 1997 में उन्हें तालिबान ने बंधक बनाया था. लेकिन दो साल बाद वो कंधार में तालिबान की गिरफ्त से भाग निकले थे और फिर अमेरिकी सेना के साथ आतंकी संगठन के खिलाफ बड़ा अभियान छेड़ा था.

वो 2005 से लेकर 2013 तक देश के ऊर्जा और जल मंत्री थे. इससे पहले वो हेरात प्रांत के गवर्नर भी रह चुके हैं. इस्माइल खान अफगानिस्तान की सेना में कैप्टन भी थे. लेकिन उनकी मुख्य छवि एक वार लॉर्ड की है क्योंकि उनके पास मुजाहिदीनों की एक बड़ी फौज थी. इस फौज में ज्यादातर लोग पश्चिमी अफगानिस्तान से थे जो ताजिक मूल के थे.

अफगानिस्तान में मजबूत होता जा रहा है तालिबान

अमेरिकी सैनिकों की अफगानिस्तान से विदाई का वक्त जैसे जैसे नजदीक आ रहा है, तालिबान वैसे वैसे मजबूत होता जा रहा है. आतंकी संगठन ने ईरान सीमा से लेकर चीनी सीमा तक के बड़े क्षेत्र पर कब्जा जमा लिया है.

भारत ने अपने नागरिकों के लिए जारी की एडवायजरी

तालिबान के चलते अफगानिस्तान में स्थिति लगातार विकट होती जा रही है. इसी बीच भारत ने दो महीनों के भीतर चौथी बार अपने नागरिकों के लिए एडवाइजरी जारी की है. सरकार ने भारतीयों को गाइडलाइंस का पालन करने के लिए कहा है. इससे पहले भी दूतावास ने भारतीयों को तत्काल अफगानिस्तान छोड़ने के लिए कहा था. अफगानिस्तान में अभी भी 1500 भारतीय मौजूद हैं. भारत के अलावा अमेरिका, ब्रिटेन और जर्मनी ने भी अपने नागरिकों के लिए ए़डवाइजरी जारी कर दी है.

Related Articles

शादी करने से इंकार करने पर बलात्कार के बाद हुई हत्या

प्रेमी ने दोस्त के साथ मिलकर 20 वर्षीय युवती के साथ किया बलात्कार व हत्या, विनोवा भावे नगर पुलिस की हद का...

एक मोबाइल की चोरी में पकड़ा गया आरोपी

6 मामलों का हुआ खुलासा सभी मोबाइल बरामद मुंबई। एक 70 वर्षीय बृद्ध के मोबाइल चोरी की घटना की...

मेट्रो स्टेशन का नाम रामबाग चांदिवली किए जाने की मांग

मुंबई। मेट्रो परियोजना के तहत जोगेश्वरी से विक्रोली तक के मार्ग पर मेट्रो निर्माण का कार्य शुरू हो गया है। इस मार्ग...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

22,042FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

शादी करने से इंकार करने पर बलात्कार के बाद हुई हत्या

प्रेमी ने दोस्त के साथ मिलकर 20 वर्षीय युवती के साथ किया बलात्कार व हत्या, विनोवा भावे नगर पुलिस की हद का...

एक मोबाइल की चोरी में पकड़ा गया आरोपी

6 मामलों का हुआ खुलासा सभी मोबाइल बरामद मुंबई। एक 70 वर्षीय बृद्ध के मोबाइल चोरी की घटना की...

मेट्रो स्टेशन का नाम रामबाग चांदिवली किए जाने की मांग

मुंबई। मेट्रो परियोजना के तहत जोगेश्वरी से विक्रोली तक के मार्ग पर मेट्रो निर्माण का कार्य शुरू हो गया है। इस मार्ग...

पूर्व बेस्ट समिति के अध्यक्ष व वार्ड क्रमांक153 के नगरसेवक अनिल पाटणकर के प्रयास से मतदाता सूची में नाम पंजीकरण मुहिम शुरू

मुंबई। चेंबूर के घाटला गांव वार्ड क्रमांक153 में पूर्व बेस्ट समिति के अध्यक्ष तथा नगरसेवक अनिल पाटणकर के प्रयास से मतदाता सूची...

एनसीबी ने ड्रग्स की कार्रवाई का खुलासा करने से किया इनकार!

मुंबई। केंद्रीय गृह मंत्रालय के तहत काम करने वाले ब्यूरो ऑफ नारकोटिक्स कंट्रोल (एनसीबी) ने आरटीआई कार्यकर्ता अनिल गलगली को पिछले तीन...