26.3 C
Mumbai
Sunday, September 19, 2021

पारसी समुदाय में महिलाओं से भेदभाव पर सुप्रीम कोर्ट में याचिका, केंद्र और धार्मिक संगठन से मांगा जवाब

नई दिल्ली. पारसी समुदाय में महिलाओं के साथ होने वाले भेदभाव पर सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को केंद्र सरकार, पारसी धार्मिक संगठन और अल्पसंख्यक कल्याण मंत्रालय को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है. एक पारसी महिला और उसके नाबालिग बेटे ने याचिका दाखिल कर कहा है कि अपने धर्म से बाहर शादी करने की वजह से उसे प्रताड़ना झेलनी पड़ रही है.

मुंबई की रहने वाली सनाया दलाल ने अपनी याचिका में कहा है कि उसके पति हिंदू हैं और उन्होंने स्पेशल मैरिज एक्ट के तहत शादी की है. इस वजह से सनाया और उसके बेटे को पारसी समुदाय से अलग कर दिया गया है. महिला ने कहा, ‘उनके बेटे को पारसी धार्मिक संगठन की सदस्यता नहीं दी जा रही. पारसी समुदाय के मुहल्ले में रहना भी मुश्किल हो रहा क्योंकि समुदाय ने उन्हें खुद से अलग कर दिया है.’

Assam : परिवहन मंत्री बोले- मनुष्य का बनाया हुआ नहीं है कोरोना वायरस, यह भगवान के कंप्यूटर से धरती पर आया

याचिका में कहा गया है कि पारसी महिलाओं को अपने धर्म से बाहर शादी करने का ये फल दिया जाता है और ये पारसी महिलाओं के अपनी पसंद से शादी करने के अधिकार का हनन है. इसकी मूल वजह बंबई हाई कोर्ट का एक फैसला है जो पारसी धार्मिक संगठन को ये अधिकार देता है कि वो किसी को भी अपने समुदाय से अलग कर सकते है. सनाया का कहना है कि ये उनके मूल अधिकारों का हनन है इसलिए सुप्रीम कोर्ट इस पर विचार करे.

कपल ने कोरोना महामारी के दौरान फ्लैट छोड़ बस को बनाया अपना घर! बस पर ही करेंगे परिवार के नए सदस्य का स्वागत

याचिका में कहा गया है कि पारसी समुदाय के लोग खुद को आर्यों का वंशज मानते हैं. उनका ये मानना है कि जब कोई पारसी समुदाय का व्यक्ति किसी गैर-पारसी समुदाय से शादी करता है तो उसके बच्चे का खून अलग हो जाता है. यानी वो आर्य नही रह जाता है. सनाया ने अपनी याचिका में इस मान्यता को गैर-संवैधानिक बताया है क्योंकि भारत का संविधान किसी को वंश, जाति या धर्म के नाम पर भेदभाव करने की इजाजत नहीं देता.

याचिका में ये भी कहा गया है कि ये भेदभाव सिर्फ पारसी महिलाओं के साथ होता है, जबकि पारसी पुरुष अगर किसी गैर-पारसी महिला से शादी करते है, तो उन्हें समाज से अलग नहीं किया जाता. सुप्रीम कोर्ट ने इस याचिका पर केंद्र सरकार और पारसी धार्मिक संगठन से जवाब मांगा है. अब इस मामले की अगली सुनवाई चार हफ्तों के बाद होगी.

Related Articles

अंगद कुमार ओझा की फिल्म ‘करिया’ का सेकंड शेड्यूल 20 सितंबर से देवरिया में

फिल्मी दुनियाँ में अलग मुकाम हासिल करने वाले सशक्त फ़िल्म अभिनेता अंगद कुमार ओझा बहुचर्चित फ़िल्म करिया की शूटिंग का सेकंड शेड्यूल...

नीलम गिरी और शिल्पी राज के ‘गोदनवा’ को मिले 4 दिन में 5 मिलियन से ज्यादा व्यूज

‘गरईया मछरी’ की अपार सफलता के बाद एक बार फिर से अभिनेत्री नीलम गिरी और सिंगर शिल्पी राज अपना नया धमाकेदार सांग...

नीलकमल सिंह ने प्रगति भट्ट से कहा ‘लिपिस्टिक का color चेंज कीजिए’, गाना 1 दिन में पहुंचा एक मिलियन के पार

भोजपुरी इंडस्ट्री के बवाल सिंगर नीलकमल सिंह और सुपर सिंगर प्रियंका सिंह की आवाज में नया सांग 'लिपस्टिक का Color चेंज कीजिए'...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

22,042FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

अंगद कुमार ओझा की फिल्म ‘करिया’ का सेकंड शेड्यूल 20 सितंबर से देवरिया में

फिल्मी दुनियाँ में अलग मुकाम हासिल करने वाले सशक्त फ़िल्म अभिनेता अंगद कुमार ओझा बहुचर्चित फ़िल्म करिया की शूटिंग का सेकंड शेड्यूल...

नीलम गिरी और शिल्पी राज के ‘गोदनवा’ को मिले 4 दिन में 5 मिलियन से ज्यादा व्यूज

‘गरईया मछरी’ की अपार सफलता के बाद एक बार फिर से अभिनेत्री नीलम गिरी और सिंगर शिल्पी राज अपना नया धमाकेदार सांग...

नीलकमल सिंह ने प्रगति भट्ट से कहा ‘लिपिस्टिक का color चेंज कीजिए’, गाना 1 दिन में पहुंचा एक मिलियन के पार

भोजपुरी इंडस्ट्री के बवाल सिंगर नीलकमल सिंह और सुपर सिंगर प्रियंका सिंह की आवाज में नया सांग 'लिपस्टिक का Color चेंज कीजिए'...

समर सिंह, आकांक्षा दूबे का ब्लॉकबस्टर सांग “नमरिया कमरिया में खोस देब” हुआ 89 मिलियन के पार

देसी स्टार समर सिंह यूट्यूब पर लगातार बवाल मचा रहे हैं और उनके गाने मिलियन में व्यूज हासिल कर रहे हैं। समर...

वीइएस के बाल छात्रों ने टमाटर पर बनाए गणपति

मुंबई। गणेशोत्सव के मद्देनजर नेहरू नगर के  विवेकानंद इंग्लिश प्री-प्राइमरी स्कूल की शिक्षिकाओं ने जुनियर के  जी और सिनियर केजी के चारों...