25 C
Mumbai
Sunday, December 5, 2021

पेगासस केस: चीफ जस्टिस बोले- यह गंभीर मुद्दा, सोशल मीडिया नहीं कोर्ट में हो बहस

नई दिल्ली. पेगासस जासूसी मामले (Pegasus Spy Case) को लेकर केंद्र सरकार ने जवाब दाखिल करने के लिए सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) से शुक्रवार तक का समय मांगा है. पहले इस मामले में सरकार को कोर्ट ने 10 अगस्त तक जवाब दाखिल करने के लिए कहा था. मंगलवार को सुनवाई के दौरान मुख्य न्यायाधीश एनवी रमन्ना ने इसी बात को लेकर चिंता जताई कि याचिकाकर्ता इस मसले पर सोशल मीडिया पर बहस कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि बेहतर होगा कि इस मसले पर कोर्ट में सुनवाई हो. अब इस मामले की सुनवाई सोमवार को होगी.

CJI ने कहा, ‘याचिकाकर्ता मीडिया में बयान दे रहे हैं, लेकिन हम चाहते हैं कि सारी बहस कोर्ट में हो. अगर याचिकाकर्ता सोशल मीडिया पर बहस करना चाहते हैं तो ये उन पर है. अगर वो कोर्ट में आए हैं तो उन्हें कोर्ट में बहस करनी चाहिए. उन्हें कोर्ट पर भरोसा रखना चाहिए. जो बात है वो कोर्ट में कहे, एक समानांतर बहस सोशल मीडिया के जरिये न करें.’ चीफ जस्टिस ने सभी याचिकाकर्ताओं और वकीलों से कहा कि वो कोर्ट पर भरोसा रखें. साथ ही उन्होंने कहा कि अगर कोर्ट मुद्दे को समझने के लिए कोई सवाल पूछे तो उसका गलत मतलब न निकालें. ये एक संगीन मुद्दा है इसलिए संजीदगी से काम लें.

ये भी पढ़ें:- सुप्रीम कोर्ट का आदेश- प्रत्‍याशी का ऐलान करने के 48 घंटे के अंदर देनी होगी मुकदमों की जानकारी

CJI बोले- सिस्टम में भरोसा रखना चाहिए

वकील एमएल शर्मा ने कहा कि उन्होंने अपनी याचिका में सुधार कर दोबारा दाखिल की है. वो इस मसले पर बहस करना चाहते थे लेकिन कोर्ट ने कहा कि आज वो मामले की सुनवाई नहीं कर रहे हैं सोमवार को करेंगे. CJI ने कहा कि सिस्टम में भरोसा रखना चाहिए. कपिल सिब्बल ने CJI की बातों से सहमति जताई. सिब्बल वरिष्ठ पत्रकार एन राम और शशि कुमार की ओर से पेश हो रहे हैं.

जासूसी के आरोप गंभीर

सुप्रीम कोर्ट ने बृहस्पतिवार को कहा कि पेगासस के बारे में अगर रिपोर्ट सही है तो इससे संबंधित जासूसी के आरोप ‘गंभीर प्रकृति के’’ हैं. इसके साथ ही शीर्ष अदालत ने इजरायली स्पाइवेयर मामले की जांच का अनुरोध करने वाले याचिकाकर्ताओं से पूछा था कि क्या उन्होंने इस बारे में आपराधिक शिकायत दर्ज करने का कोई प्रयास किया है.

क्या है पूरा मामला?

शीर्ष अदालत कथित पेगासस जासूसी मामले की स्वतंत्र जांच के अनुरोध वाली नौ याचिकाओं पर सुनवाई कर रही है. जिसमें एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया और वरिष्ठ पत्रकारों की याचिकाएं भी शामिल हैं. ये याचिकाएं इजरायली कंपनी एनएसओ के स्पाइवेयर पेगासस का उपयोग करके प्रमुख नागरिकों, नेताओं और पत्रकारों पर सरकारी एजेंसियों द्वारा कथित जासूसी की रिपोर्ट से संबंधित हैं. एक अंतरराष्ट्रीय मीडिया संघ ने बताया है कि 300 से अधिक सत्यापित भारतीय मोबाइल फोन नंबर पेगासस स्पाइवेयर का उपयोग करके निगरानी के संभावित लक्ष्यों की सूची में थे. एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया ने अपनी याचिका में पत्रकारों और अन्य की कथित निगरानी की जांच के लिए एक विशेष जांच दल गठित करने का अनुरोध किया है. (एजेंसी इनपुट के साथ)

Related Articles

75 वर्षीय बृद्धा का हत्यारा नातू गिरफ्तार

7 साल बाद पुलिस ने जाल में फंसाया मुंबई। पवई पुलिस की हद में 7 साल पहले हुई एक...

जीकेसी पटना जिला युवा प्रकोष्ठ ने मनायी डा. राजेन्द्र प्रसाद की जयंती

पटना। ग्लोबल कायस्थ कॉन्फ्रेंस (जीकेसी) पटना जिला युवा प्रकोष्ठ ने भारत के प्रथम राष्ट्रपति देशरत्न डॉ. राजेन्द्र प्रसाद की जयंती हर्षोल्लास...

इमेजिका वेलफेयर फाउंडेशन के सौजन्य से विभूतियों को मिला डॉ राजेंद्र प्रसाद स्मृति सम्मान

पटना। इमेजिका वेलफेयर फाउंडेशन के सौजन्य भारत रत्न डॉ राजेंद्र प्रसाद की जयंती के अवसर पर डॉ राजेंद्र प्रसाद स्मृति सम्मान समारोह...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

22,042FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

75 वर्षीय बृद्धा का हत्यारा नातू गिरफ्तार

7 साल बाद पुलिस ने जाल में फंसाया मुंबई। पवई पुलिस की हद में 7 साल पहले हुई एक...

जीकेसी पटना जिला युवा प्रकोष्ठ ने मनायी डा. राजेन्द्र प्रसाद की जयंती

पटना। ग्लोबल कायस्थ कॉन्फ्रेंस (जीकेसी) पटना जिला युवा प्रकोष्ठ ने भारत के प्रथम राष्ट्रपति देशरत्न डॉ. राजेन्द्र प्रसाद की जयंती हर्षोल्लास...

इमेजिका वेलफेयर फाउंडेशन के सौजन्य से विभूतियों को मिला डॉ राजेंद्र प्रसाद स्मृति सम्मान

पटना। इमेजिका वेलफेयर फाउंडेशन के सौजन्य भारत रत्न डॉ राजेंद्र प्रसाद की जयंती के अवसर पर डॉ राजेंद्र प्रसाद स्मृति सम्मान समारोह...

घाटकोपर में क्लीनअप मार्शल द्वारा गांधीगिरी, बिना मास्क के चलने वालों को मास्क व गुलाब देकर किया जनजागरूक

 मुंबई:घाटकोपर: विनामास्क के नागरिकों और सफाई कर्मियों के बीच विवाद अक्सर सामने आते रहे हैं। लेकिन आज घाटकोपर क्षेत्र में सफाई कर्मी...

ट्राम्बे के जाने माने समाजसेवक शब्बीर खान की घर वापसी

भाई जगताप और शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ की मौजूदगी में हुए कांग्रेस में शामिल मुंबई: आने वाले समय में...