31 C
Mumbai
Tuesday, October 19, 2021

पंजाब के सीएम ने पीएम मोदी से की मुलाकात, कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग

चंडीगढ़. पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह (Punjab Chief Minister Captain Amarinder Singh) ने बुधवार को प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) को कृषि कानून (farming law) रद्द करने और किसानों को मुफ्त कानूनी सहायता श्रेणी में शामिल करने के लिए संबंधित कानून में संशोधन करने के लिए तुरंत कदम उठाने की अपील की. मुख्यमंत्री ने आज शाम यहां प्रधान मंत्री के साथ मुलाकात की और उनको दो अलग-अलग पत्र भी सौंपे. इस मौके पर मुख्यमंत्री ने मोदी को तीन खेती कानूनों का जायजा लेकर तुरंत रद्द करने के लिए कहा क्योंकि इन कानूनों के कारण पंजाब और अन्य राज्यों के किसानों में बड़े स्तर पर गुस्सा पाया जा रहा है जो बीते साल 26 नवंबर से दिल्ली की सरहदों पर प्रदर्शन कर रहे हैं.

बीते लंबे समय से चल रहे किसान आंदोलन में हुई 400 किसानों और खेत कामगारों की मौत का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इस संघर्ष का पंजाब और मुल्क के लिए सुरक्षा के लिहाज से बड़ा खतरा खड़ा होने की संभावना है क्योंकि पाकिस्तान की शह प्राप्त भारत विरोधी ताकतें सरकार के प्रति किसानों की नाराजगी का नाजायज लाभ उठाने की ताक में हैं. इस मुद्दे का चिरस्थायी हल ढूंढने के लिए भारत सरकार की तरफ से किसानों की जायज चिंताओं का जल्द हल किए जाने के लिए प्रधान मंत्री को दखल देने की अपील करते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि मौजूदा समय चल रहा किसान आंदोलन न सिर्फ पंजाब में आर्थिक सरगर्मियों को प्रभावित कर रहा है बल्कि इसका सामाजिक ताने -बाने पर भी प्रभाव पड़ने की संभावना है, खास करके उस समय पर जब राजनैतिक पार्टियां और बाकी समूह अपने-अपने स्टैंड पर अड़े हुए हैं.

ये भी पढ़ें : भारत में अल्‍पसंख्‍यक 11% ईसाई समुदाय के सबसे ज्‍यादा 72% मिशनरी स्‍कूल, NCPCR के सर्वे में कई बड़े खुलासे

कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि उन्होंने इससे पहले भी प्रधान मंत्री से पंजाब से सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल के साथ मीटिंग करने के लिए समय देने की मांग की थी. उन्होंने धान की पराली के प्रबंधन के लिए किसानों को 100 रुपए प्रति क्विंटल मुआवजा देने और डी.ए.पी. की कमी के अंदेशों का हल करने की भी मांग की क्योंकि खाद की कमी से किसानों की समस्याएं और खेती कानूनों के कारण पैदा हुआ संकट और गहरा हो सकता है.एक अन्य पत्र में मुख्यमंत्री ने जोर देकर कहा कि जमीनें बांटे जाने और पट्टे पर जमीन लेने वालों और मार्केट ऑपरेटरों और एजेंटों के साथ लगातार विवाद के कारण किसानों को इन दिनों अदालती मामलों का सामना करना पड़ रहा है जिससे उनके पहले ही थोड़े वित्तीय साधनों पर और बोझ पड़ता है.

ये भी पढ़ें : बीजेपी सांसद ने ओवैसी को बताया भविष्य का जिन्ना, कहा- करेंगे देश के एक और विभाजन की मांग

ऐसे अदालती मामलों से किसानों पर पड़ते वित्तीय बोझ को घटाने की जरूरत पर जोर देते हुये मुख्यमंत्री ने उनका इस बात की तरफ ध्यान दिलाया कि केंद्रीय कानूनी सेवाएं अथॉरिटीज एक्ट-1987 में कुछ खास श्रेणियों के उन व्यक्तियों को मुफ्त कानूनी सहायता देने का उपबंध है जो कि समाज के कमजोर वर्ग समझे जाते हैं. किसानों को भी इन्हीं में से ही एक समझते हुए कहा कि किसानों को कई बार वित्तीय समस्याओं के कारण आत्म-हत्या करने के लिए मजबूर होना पड़ता है, हालांकि यह वर्ग हौंसला न हारते हुए अपने जिंदगी की कीमत पर भी अपनी जमीन की काश्त करने को प्राथमिकता देते हैं.

मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि इसलिए यह समय की जरूरत है कि कानूनी सेवाएं अथॉरिटीज एक्ट-1987 के सैक्शन 12 में संशोधन करते हुए इसमें किसानों और खेती कामगारों को भी शामिल किया जाए जिससे वह मुफ्त कानूनी सेवाएं हासिल करने के हकदार बन कर अपनी रोजी -रोटी बचाने के लिए अदालतों में अपना बचाव कर सकें। उन्होंने महसूस किया कि इस कदम से किसानों की आत्महत्याओं के मामले घटेंगे और उनको कानूनी और वित्तीय अधिकारों की बेहतर सुरक्षा को यकीनी बनाया जा सकेगा. मुख्यमंत्री ने प्रधान मंत्री से अपील की कि किसानों के कल्याण से सम्बन्धित केंद्रीय मंत्रालयों को यह सलाह दी जाये कि किसानों के बड़े हितों को देखते हुए कानूनी सेवाएं अथॉरिटीज एक्ट-1987 में जरूरी संशोधन किया जाए.

Related Articles

प्रवासी युवक दीपाराम प्रजापति लापता, तलाश में जुटी पुलिस

मुंबई। भायंदर पूर्व की ओम पारस बिल्डिंग में रहने वाले 42 वर्षीय दीपाराम हीराराम प्रजापति 11 अक्टूबर से रहस्यमय तरीके से लापता हैं।...

वर्ल्डवाइड रिकार्ड्स ने रिलीज किया सिंगर अनुपमा यादव का भोजपुरी गीत ‘करी दs गवनवा भउजी”

वर्ल्डवाइड रिकार्ड्स भोजपुरी के धमाकेदार सप्ताह का सिलसिला जारी है। इस धमाकेदार सप्ताह में रिलीज किए गए गाने बवाल मचा रहे हैं।...

बरगदवां बजार के बरैठवां टोला पर वन विभाग की छापेमारी सांखू की लकड़ियां हुई बरामद

महाराजगंज। महाराजगंज के नौतनवा तहसील क्षेत्र के बरगदवा बाजार का टोला बरैठवां जहां वन विभाग की टीम द्वारा छापेमारी किया गया...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

22,042FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

प्रवासी युवक दीपाराम प्रजापति लापता, तलाश में जुटी पुलिस

मुंबई। भायंदर पूर्व की ओम पारस बिल्डिंग में रहने वाले 42 वर्षीय दीपाराम हीराराम प्रजापति 11 अक्टूबर से रहस्यमय तरीके से लापता हैं।...

वर्ल्डवाइड रिकार्ड्स ने रिलीज किया सिंगर अनुपमा यादव का भोजपुरी गीत ‘करी दs गवनवा भउजी”

वर्ल्डवाइड रिकार्ड्स भोजपुरी के धमाकेदार सप्ताह का सिलसिला जारी है। इस धमाकेदार सप्ताह में रिलीज किए गए गाने बवाल मचा रहे हैं।...

बरगदवां बजार के बरैठवां टोला पर वन विभाग की छापेमारी सांखू की लकड़ियां हुई बरामद

महाराजगंज। महाराजगंज के नौतनवा तहसील क्षेत्र के बरगदवा बाजार का टोला बरैठवां जहां वन विभाग की टीम द्वारा छापेमारी किया गया...

फिर धमाल मचाने आ रहे हैं अरविंद अकेला कल्लू,शिल्पी राज और नीलम गिरी

वर्ल्डवाइड रिकार्ड्स के धमाकेदार सप्ताह से एक के बाद एक धमाके निकल कर आ रहे हैं। 16 अक्टूबर नीलकमल सिंह,17 अक्टूबर समर...

विक्रोली ट्रैफिक पुलिस के कैशियर का आतंक

गाडी पार्किंग की आड़ में लाखों की करता है वसूली मुंबई। विक्रोली ट्रैफिक पुलिस चौकी के कैशियर का पुरे...