26 C
Mumbai
Wednesday, October 20, 2021

Punjab Politics: लंबी रेस का घोड़ा साबित होंगे सीएम चन्नी, 2022 चुनाव के बाद सिद्धू की बढ़ा सकते हैं चिंता

चंडीगढ़. पंजाब के नए मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी (Charanjit Singh Channi) सबसे ज्यादा पढ़े-लिखे सीएम हैं. उन्होंने राजनीति शास्त्र में एमए किया है. उनके पास एमबीए की डिग्री है. वो लॉ ग्रेजुएट हैं और अब पीएचडी कर रहे हैं. उनका विषय भी बेहद दिलचस्प है- भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस… पंजाब के नए मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी न केवल पंजाब के सबसे शिक्षित मंत्री हैं, बल्कि उन्हें अब 2022 के चुनावों में कांग्रेस के लिए एक्स-फैक्टर के तौर पर देखा जा रहा है.

पूरे पंजाब में चंडीगढ़ से पटियाला और संगरूर से लुधियाना और फिर जालंधर और अमृतसर… आप जहां भी जाएंगे हर तरफ सड़क के किनारे आपको चन्नी के पोस्टर दिखेंगे. कुछ लोगों का कहना है कि कांग्रेस की ओर से ये कदम देर से उठाया गया. भारी सत्ता विरोधी लहर के बीच चुनाव से ठीक पांच महीने पहले कैप्टन अमरिंदर सिंह की जगह एक नए सीएम को मैदान में उतारा गया है. हालांकि भाजपा दूसरे राज्यों में बहुत पहले से ऐसा करती आ रही है. कुछ लोगों का कहना है कि चन्नी एक ‘एक्सीडेंटल सीएम’ है और सत्ता में वापसी के लिए पार्टी के लिए सबसे अच्छा दांव है. अगर ऐसा होता है, तो चन्नी यहां लंबी पारी खेल सकते हैं. पंजाब में पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, ‘अगर कांग्रेस जीतती है तो कोई गरीब, शिक्षित दलित चेहरे को सीएम के पद से कैसे हटाएगा?’

चन्नी ने तैयार किया है रोड मैप

News18 की टीम बुधवार को आईटीआई कपूरथला में आयोजित एक कार्यक्रम में पहुंची थी. ये कार्यक्रम चन्नी के भागंड़ा के लिए काफी चर्चा में रहा. चन्नी ने यहां करीब आधे घंटे का भाषण भी दिया. सीएम के तौर पर ये उनका पहला महत्वपूर्ण भाषण था. उन्होंने कहा, ‘मेरे पास पंजाब को आगे ले जाने का रोडमैप है. मैं इसे कुछ समय से तैयार कर रहा हूं.’ चन्नी ने ये भी कहा कि वो रिश्वत या भ्रष्टाचार को बर्दाश्त नहीं करेंगे और पांच महीने के भीतर चीजों को ठीक कर देंगे. उन्होंने कहा ‘या तो मैं जाऊंगा, या भ्रष्टाचार खत्म होगा. अगर कोई आपसे घूस मांगे तो मुझे फोन करना.’

अम्बेडकर को किया याद

चन्नी ने अपने भाषण में मुख्य तौर पर तीन चीज़ें कही. पहला उन्होंने डॉ. भीमराव आंबेडकर को याद किया और कहा, ‘मैंने आंबेडकर से प्रेरणा ली और उनकी तरह जीवन भर खुद को मजबूत किया. मैंने कभी भी आरक्षण के कारण स्कूल में फीस का भुगतान नहीं किया, फिर कॉलेज में सिर्फ 26 रुपये सालाना फीस का भुगतान करने के लिए छूट मिली. फिर मैंने स्पोर्ट्स कोटे से हैंडबॉल खेला और बाद में विश्वविद्यालय में 150 रुपये का स्टाइपेंड मिला. मैंने बीए किया, फिर कानून की पढ़ाई की, फिर राजनीति विज्ञान में एमए, फिर एमबीए और अब मैं भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पर पीएचडी कर रहा हूं.’ चन्नी ने वास्तव में कहा कि जिस दिन उन्होंने शपथ ली थी, उस दिन वो अपने पीएचडी थीसिस पर काम करने के लिए अपने टीचर के साथ रात 2 से 3 बजे तक बैठे थे, जिससे कि वो दिसंबर तक अपना पेपर जमा कर सके.

आम आदमी हैं चन्नी

कैप्टन या सुखबीर बादल के विपरीत चन्नी एक आम आदमी हैं. पीएम मोदी की तरह, चन्नी कहते हैं कि वो ‘मुख्य सेवादार’ हैं. उन्होंने कहा, ‘मैं अपना फोन कभी भी साइलेंट पर नहीं रख सकता. ये हमेशा चालू रहता है. मैं उस दिन भी हैरान रह गया, जब मैंने अपनी सुरक्षा घेरे में 1000 लोगों और 200 लग्जरी कारों को पाया- कुछ की कीमत 2 करोड़ रुपये और मेरे कमरे जितनी बड़ी थी. मुझे ये सब नहीं चाहिए और मैंने अपनी सुरक्षा को 5-10 लोगों तक कम करने के लिए कहा है. कौन मुझे नुकसान पहुंचाएगा या मारेगा? क्या मैं सुखबीर बादल हूं कि मुझे इतनी सुरक्षा रखनी है? बादल के पास कोई जन समर्थन नहीं है, इसलिए वह इतना बड़ा काफिला चुनते हैं.’

Punjab Congress, Charanjit Singh Channi, congress, punjab politics, navjot singh sidhu, पंजाब कांग्रेस, चरणजीत सिंह चन्नी, कांग्रेस, पंजाब, नवजोत सिंह सिद्धू

पंजाब की सड़कों पर चन्नी के पोस्टर

चन्नी का विज़न

तीसरी चीज़ है चन्नी का विज़न. उनका कहना है कि वो पांच महीने के भीतर एक लाख और सरकारी नौकरियां पैदा करना चाहते हैं, राज्य में नौकरियों की आउटसोर्सिंग को रोकना चाहते हैं, शिक्षा पर बड़ा ध्यान केंद्रित करना चाहते हैं और ‘पंजाब को आगे ले जाना चाहते हैं.’ उनके करीबी लोगों का कहना है कि चन्नी ने तत्कालीन बादल सरकार द्वारा हस्ताक्षरित विवादास्पद बिजली खरीद समझौतों को रद्द करने की योजना भी मांगी है और बड़ी मछलियों के खिलाफ बेअदबी और नशीली दवाओं के दुरुपयोग के मामलों में कार्रवाई के साथ आगे बढ़ना चाहते हैं. पंजाब सरकार के एक अधिकारी ने News18 को बताया कि नए सीएम ने पहले ही गरीबों के सभी लंबित बिजली और पानी के बिल माफ कर दिए हैं.

कम समय में करना होगा ज्यादा काम

चन्नी के पास समय काफी कम समय है. उन्हें सिर्फ पांच महीनों में काफी ज्यादा काम करना होगा. एक वरिष्ठ अकाली नेता ने तर्क दिया, ‘चन्नी को ये समझने से पहले कि एक सीएम को क्या करना है, पांच महीने खत्म हो जाएंगे.’ राज्य में 19% जाट सिख आबादी एक दलित सिख चेहरे को मुख्यमंत्री नहीं बना सकती है. चन्नी और नवजोत सिंह सिद्धू दोनों पंजाब के मालवा क्षेत्र से आते हैं, जबकि दो डिप्टी सीएम माझा क्षेत्र से आते हैं. पंजाब का दोआबा क्षेत्र छूट गया है. यहां से किसी को कैबिनेट में जगह देनी होगी.

चन्नी को सिद्धू देंगे चुनौती

हालांकि चन्नी के लिए सबसे बड़ी चुनौती उनके अपने प्रदेश पार्टी अध्यक्ष और 2022 में आने वाले मुख्यमंत्री की कुर्सी के दावेदार-नवजोत सिंह सिद्धू हो सकते हैं. अब तक राजनीतिक हलकों में यह धारणा है कि सिद्धू ‘सुपर सीएम’ के रूप में काम कर रहे हैं. सिद्धू ने सुखजिंदर रंधावा में एक जाट सिख चेहरे को सीएम चुने जाने पर आपत्ति जताई थी, रंधावा जैसा मजबूत चेहरा उनके लिए 2022 में सीएम के रूप में रास्ता नहीं बना सकता है. सिद्धू वास्तव में विधायक अमर सिंह को मुख्यमंत्री बनाना चाहते थे, जो कभी उनके निजी सहायक थे.

ये भी पढ़ें:- पंजाब में कैबिनेट विस्तार पर सीएम चन्नी और सिद्धू में मतभेद! मंत्रियों की लिस्ट पर दिल्ली में माथापच्ची जारी

चन्नी खेलेंगे लंबी पारी?

चन्नी के राहुल गांधी के साथ भी अच्छे समीकरण हैं. पार्टी ने एक गरीब दलित को मुख्यमंत्री बनाकर मैसेज देने की कोशिश की है. ऐसे में अगर कांग्रेस सभी बाधाओं के बावजूद पंजाब को जीतने में सफल होती है, तो चन्नी एक नया एक्स-फैक्टर साबति हो सकते हैं.

Related Articles

कामराज नगर में पुनः झोपडा माफिया हुए सक्रिय

सरकारी जमीन पर रोज बनते है दर्जनों झोपड़े, सदाम मामू है झोपडा माफियाओ का सरगना मुंबई। घाटकोपर मनपा एन...

गोवंडी की झोपड़पट्टियो में अधिकांश संख्या में सीसीटीवी खराब या बंद होने से पुलिस की दिक्कतें बढ़ी

मुंबई। गोवंडी शिवाजीनगर विधानसभा की अनेक झोपड़पट्टियों में कुछ दिनों से सीसीटीवी कैमरे अधिकांश संख्या में बंद होने से रफीक नगर में...

वाडिया अस्पताल में निःशुल्क स्कोलियोसिस शिविर

मुंबई। बाई जेरबाई वाडिया अस्पताल में बच्चों की हड्डीओं की जाचं कराने के लिए दो दिवसीय चिकित्सा शिबीर का आयोजन किया गया।...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

22,042FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

कामराज नगर में पुनः झोपडा माफिया हुए सक्रिय

सरकारी जमीन पर रोज बनते है दर्जनों झोपड़े, सदाम मामू है झोपडा माफियाओ का सरगना मुंबई। घाटकोपर मनपा एन...

गोवंडी की झोपड़पट्टियो में अधिकांश संख्या में सीसीटीवी खराब या बंद होने से पुलिस की दिक्कतें बढ़ी

मुंबई। गोवंडी शिवाजीनगर विधानसभा की अनेक झोपड़पट्टियों में कुछ दिनों से सीसीटीवी कैमरे अधिकांश संख्या में बंद होने से रफीक नगर में...

वाडिया अस्पताल में निःशुल्क स्कोलियोसिस शिविर

मुंबई। बाई जेरबाई वाडिया अस्पताल में बच्चों की हड्डीओं की जाचं कराने के लिए दो दिवसीय चिकित्सा शिबीर का आयोजन किया गया।...

बांग्लादेश में हिंदुओं पर हो रहे हमले को रूकवाने की पहल करें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

मुंबई। पिछले दो दिनों से बांग्लादेश में हिंदू मंदिरों और दुर्गा पंडालों में हमले हो रहे हैं। वहां की स्थिति  यह हो...

मुंबई उपनगरीय ताइक्वांडो चैम्पियनशिप 2021 का सफलतापूर्व  आयोजन

मुंबई। 20वीं मुंबई उपनगरीय ताइक्वांडो जिला स्तरीय प्रतियोगिता गत 15,16,17 अक्टूबर 2021 को धारावी स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में आयोजित की गई थी।  प्रतियोगिता...