26 C
Mumbai
Wednesday, October 20, 2021

ऑक्सफोर्ड वैक्सीन के कारण होने वाली ब्लड क्लॉटिंग बेहद खतरनाक और घातक: स्टडी

लंदन. ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका (Oxford-AstraZeneca Vaccine) के कोविड-19 रोधी टीके के कारण खून में थक्का जमने (Blood Clotting) के मामले वैसे तो विरले ही होते हैं लेकिन यह बेहद खतरनाक और घातक हो सकते हैं. इस संबंध में पहली बार किए गए अध्ययन में शीर्ष वैज्ञानिक इस निष्कर्ष पर पहुंचे है.

ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय अस्पताल एनएचएस फाउंडेशन ट्रस्ट की डॉ सूई पवोर्ड के नेतृत्व में अध्ययन टीम ने टीकाकरण के बाद के प्रतिरक्षण संबंधी मामलों का विश्लेषण किया. ‘न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ मेडिसिन’ में प्रकाशित अध्ययन में टीकाकरण के बाद इम्यून थ्रोम्बोसाइटोपेनिया थ्रोम्बोसिस (वीआईटीटी) के पहले 220 मामलों का अध्ययन किया गया और पता चला कि वीआईटीटी के मामले में मृत्यु दर 22 प्रतिशत है.

बेहद कम मामलों में होती है क्लॉटिंग

प्लेटलेट कम रहने और खून के थक्के भी ज्यादा बनने पर मौत की आशंका बढ़ जाती है. वहीं, बेहद कम प्लेटलेट और खून के थक्के बनने के बाद रक्तस्राव से यह आशंका 73 प्रतिशत तक बढ़ जाती है. डॉ पवोर्ड ने कहा, ‘इस बात पर जोर देना जरूरी है कि ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका टीके के प्रति इस तरह की प्रतिक्रिया बहुत दुर्लभ है.’

पवोर्ड ने कहा, ‘50 साल से कम उम्र की स्थिति में टीका ले चुके 50,000 लोगों में एक में इसके मामले आ सकते हैं. लेकिन हमारे अध्ययन में दिखा है कि वीआईटीटी विकसित होने पर यह खतरनाक होता है. युवाओं और स्वस्थ लोगों में इसकी आशंका बहुत कम है लेकिन मृत्यु दर बुहत अधिक है. विशेष रूप से कम प्लेटलेट और मस्तिष्क में खून का स्राव होने पर यह बहुत घातक होता है.’

टीके का भारत में कोविशील्ड नाम से उत्पादन हो रहा

वीआईटीटी थ्रोम्बोटिक सिंड्रोम है जिसका जुड़ाव कोविड-19 रोधी टीकाकरण से हैं. ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के टीके का भारत में कोविशील्ड नाम से उत्पादन हो रहा है. रक्त रोग विज्ञान पर समिति ने कहा है कि पिछले तीन से चार हफ्तों से वीआईटीटी का कोई नया मामला नहीं आया है. इससे संकेत मिलता है कि 40 साल से कम उम्र के लोगों को एक वैकल्पिक टीका देने के संबंध में टीकाकरण पर ब्रिटेन की संयुक्त समिति (जेसीवीआई) के निर्णय ने खास भूमिका अदा की है. डॉ पवोर्ड ने कहा, ‘वीआईटीटी नया सिंड्रोम है और हम इसके प्रभावी उपचार के लिए अब भी काम कर रहे हैं. अध्ययन से कारगर इलाज में मदद मिलेगी.’

Related Articles

कामराज नगर में पुनः झोपडा माफिया हुए सक्रिय

सरकारी जमीन पर रोज बनते है दर्जनों झोपड़े, सदाम मामू है झोपडा माफियाओ का सरगना मुंबई। घाटकोपर मनपा एन...

गोवंडी की झोपड़पट्टियो में अधिकांश संख्या में सीसीटीवी खराब या बंद होने से पुलिस की दिक्कतें बढ़ी

मुंबई। गोवंडी शिवाजीनगर विधानसभा की अनेक झोपड़पट्टियों में कुछ दिनों से सीसीटीवी कैमरे अधिकांश संख्या में बंद होने से रफीक नगर में...

वाडिया अस्पताल में निःशुल्क स्कोलियोसिस शिविर

मुंबई। बाई जेरबाई वाडिया अस्पताल में बच्चों की हड्डीओं की जाचं कराने के लिए दो दिवसीय चिकित्सा शिबीर का आयोजन किया गया।...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

22,042FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

कामराज नगर में पुनः झोपडा माफिया हुए सक्रिय

सरकारी जमीन पर रोज बनते है दर्जनों झोपड़े, सदाम मामू है झोपडा माफियाओ का सरगना मुंबई। घाटकोपर मनपा एन...

गोवंडी की झोपड़पट्टियो में अधिकांश संख्या में सीसीटीवी खराब या बंद होने से पुलिस की दिक्कतें बढ़ी

मुंबई। गोवंडी शिवाजीनगर विधानसभा की अनेक झोपड़पट्टियों में कुछ दिनों से सीसीटीवी कैमरे अधिकांश संख्या में बंद होने से रफीक नगर में...

वाडिया अस्पताल में निःशुल्क स्कोलियोसिस शिविर

मुंबई। बाई जेरबाई वाडिया अस्पताल में बच्चों की हड्डीओं की जाचं कराने के लिए दो दिवसीय चिकित्सा शिबीर का आयोजन किया गया।...

बांग्लादेश में हिंदुओं पर हो रहे हमले को रूकवाने की पहल करें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

मुंबई। पिछले दो दिनों से बांग्लादेश में हिंदू मंदिरों और दुर्गा पंडालों में हमले हो रहे हैं। वहां की स्थिति  यह हो...

मुंबई उपनगरीय ताइक्वांडो चैम्पियनशिप 2021 का सफलतापूर्व  आयोजन

मुंबई। 20वीं मुंबई उपनगरीय ताइक्वांडो जिला स्तरीय प्रतियोगिता गत 15,16,17 अक्टूबर 2021 को धारावी स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में आयोजित की गई थी।  प्रतियोगिता...