29 C
Mumbai
Friday, July 23, 2021

नहीं सुधरे हालात, तो मुंबई मनपा चुनाव में कांग्रेस का होगा बंटाधार – विश्वबंधु राय

मुंबई कांग्रेस के अध्यक्ष भाई जगताप की कार्यशैली पर उठाए सवाल
पार्टी अध्यक्षा सोनिया गांधी को लिखा पत्र
भाषाई संकट के चलते प्रभारी हैं जमीनी हकीकत से अंजान

मुंबई। कांग्रेस के महाराष्ट्र प्रदेश अध्यक्ष नाना पटोले अगले सभी चुनाव अपने दम पर लड़ने और मुख्यमंत्री पद की दावेदारी की ताल भले ही ठोंक रहे हैं, लेकिन उनकी ही पार्टी की मुंबई इकाई में असंतोष थमने का नाम नहीं ले रहा है। कांग्रेस के मुंबई अध्यक्ष भाई जगताप की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए पूर्व मुंबई सचिव विश्वबंधु राय ने पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी को लंबा-चौड़ा पत्र लिखकर उन्हें जमीनी हकीकत से अवगत कराया है।

उन्होंने अपने पत्र में कहा है कि मुंबई महानगरपालिका का चुनाव का वक्त नज़दीक आ रहा है। बीएमसी में हमारी भूमिका मुख्य विपक्षी दल के तौर पर थी। अब तक सत्ताधारी शिवसेना के भ्रष्टाचार व निष्क्रियता पर हमने हमेशा विरोध किया है, लेकिन पिछले डेढ़ वर्षों से हम महानगरपालिका के मामले में शांत हो गए हैं। महानगरपालिका में भ्रष्टाचार बंद नहीं हुआ है। ऐसे में विपक्षी दल के तौर पर मुंबई कांग्रेस के अध्यक्ष व अन्य वरिष्ठ नेता शांत बैठे हैं। यह एक प्रकार से शिवेसना के भ्रष्टाचार में मूक सहयोग देना है।

राय ने कहा है कि मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष क्या भविष्य में किसी प्रकार का लाभ लेने के लिए शिवसेना के खिलाफ शांत बैठे हैं। ऐसी परिस्थिति में महानगरपालिका चुनाव में किन मुद्दों के आधार पर मुंबई कांग्रेस के उम्मीदवार आम जनता से वोट मांगने जाएगी ? उन्होंने कहा है कि महाविकास आघाड़ी महाराष्ट्र प्रदेश स्तर पर कॉमन मिनिमम प्रोग्राम के लक्ष्य प्राप्ति के लिए बनाई गई है। इसका मतलब यह नहीं है कि शिवसेना और कांग्रेस में वैचारिक स्तर पर कोई गठजोड़ हुआ है। अभी भी प्रदेश के कई महानगरपालिका, नगरपालिका, जिला पंचायत स्तर पर हम एक दूसरे के विरोधी दल है।

विश्वबंधु राय ने कहा है कि केंद्रीय कमेटी द्वारा महाराष्ट्र व मुंबई प्रदेश के लिए भेजे गए प्रभारी श्री एच सी पाटिल हिंदी और मराठी दोनों भाषाओँ को बोलने व समझने में असमर्थ हैं। पार्टी के अधिकांश कार्यकर्ता उनके साथ संवाद स्थापित नहीं कर पा रहे हैं। ऐसे में जमीनी स्तर की राजनीतिक परिस्थिति को समझना उनके लिए मुश्किल है। इसलिए हाई कमान को यह पत्र लिखना जरुरी हो गया है। उन्होंने कहा है कि मुंबई प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष फ़िलहाल शिवसेना पार्टी के साथ व्यक्तिगत तालमेल बिठाने में लगे हुए हैं। जिससे उनके फिर से एमएलसी बनने में आसानी रहे।

मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष के द्वारा प्रवक्ताओं की भी नियुक्ति नहीं की गई है, जबकि राष्ट्रीय कमेटी के द्वारा 8 प्रवक्ता नियुक्त करने का निर्देश दिया गया था। जब प्रवक्ता ही नहीं रहेंगे, तब स्थानीय स्तर के भ्रष्टाचार पर चर्चा कैसे होगी ? राय ने आगे कहा है कि मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष सिर्फ केंद्र सरकार के उन मुद्दों पर मोर्चा प्रदर्शन करते हैं , जिन पर राष्ट्रीय कमेटी पहले से आक्रामक होती है। ऐसे में स्थानीय मुद्दों पर आवाज़ न उठाने का मौका मिल जाता है।

मुंबई कांग्रेस में कैम्पेन, कोर्डिनेशन और मेनिफेस्टो कमेटी के चेयरमैन पद पर नियुक्त वरिष्ठ नेताओं को 15 जनवरी 2020 तक कमेटी में पदाधिकारियों की नियुक्ति करनी थी। जो अब तक नहीं हो पाई है। ऐसे में 125 – 150 कार्यकर्ताओं को पद पाने के अधिकार से वंचित रखा गया है। विश्वबंधु राय ने कहा है कि मुंबई प्रदेश के दो अन्य सहप्रभारी को तुरंत बदले जाने की आवश्यकता है। इन दोनों के कारण महानगरपालिका चुनाव में पार्टी काफ़ी कुछ खोना पड़ सकता है। एक सह-प्रभारी पर आरोप है कि वो महानगरपालिका से व्यापारिक लाभ प्राप्त कर रही है। इस बात की भी जांच की जानी चाहिए।

इनके प्रभार में सूरत महानगरपालिका चुनाव में हुई गड़बड़ियों की भी जांच होनी चाहिए। उन्होंने कहा है कि मुंबई में मानसून आते ही मुंबई महानगरपालिका में सत्ताधारी शिवसेना की पोल खुल गई है। सड़क, गटर, पानी, स्वास्थ्य और शिक्षा व्यवस्था में इनके नाकामी की प्रदर्शनी लग गई है। ऐसे में बीएमसी के मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस के मुंबई प्रदेश अध्यक्ष की चुप्पी पार्टी कार्यकर्ताओं और आम जनता में पार्टी के प्रति अविश्वास का माहौल बना रही है।

विश्वबंधु राय ने यह भी कहा है कि वे अगले पत्र में मुंबई कांग्रेस द्वारा प्रदेश व जिले स्तर पर नियुक्त किए गए उन पदाधिकारियों के बारे में जानकारी भेजेंगे, जिन पर पोस्को, रेप, छेड़खानी, जमीन हड़पने, मारपीट व हफ्ता वसूली के साथ-साथ अन्य कई आपराधिक मामले न्यायिक प्रक्रिया में कोर्ट में चल रहे हैं। 

Related Articles

भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के अमर नायक रहे लोकमान्य तिलक : प्रेम शुक्ल

मुंबई। लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के अमर नायक रहे। अंग्रेजो के खिलाफ उनका नारा–स्वराज्य मेरा जन्मसिद्ध अधिकार है ,और...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

22,042FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के अमर नायक रहे लोकमान्य तिलक : प्रेम शुक्ल

मुंबई। लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के अमर नायक रहे। अंग्रेजो के खिलाफ उनका नारा–स्वराज्य मेरा जन्मसिद्ध अधिकार है ,और...

अजीत पवार के जन्मदिन पर रक्तदान एवं चिकित्सा शिविर का आयोजन

मुंबई। महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजीत पवार के जन्मदिन के उपलक्ष्य में राकांपा नेता एवं सांसद सुप्रिया सुले के निर्देश तथा महाराष्ट्र की...

गुरुपूर्णिमा पर राज ठाकरे से मिले वागीश सारस्वत 

मुंबई। महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के महासचिव वागीश सारस्वत ने गुरुपूर्णिमा के अवसर पर मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे से उनके निवास कृष्णकुंज पर...