29 C
Mumbai
Friday, June 18, 2021

सोशल मीडिया की मदद से होगी महिला यात्रियों की सुरक्षा, चेहरा पहचाने वाले कैमरों का इस्तेमाल

मुंबई। रेलगाड़ियों में महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराध रोकने के लिए मध्य रेलवे के मुंबई मंडल में कई कदम उठाए जा रहे हैं। रेलवे की कोशिश है कि यात्रा के दौरान महिलाएं खुद को ज्यादा सुरक्षित महसूस करें। स्मार्ट सहेली, मेरी सहेली, चेहरे पहचानने वाले कैमरे, वीडियो निगरानी प्रणाली जैसे कदमों के जरिए महिलाओं के खिलाफ रेल परिसर में महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराध रोकने की कोशिश की जा रही है। रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि महिला यात्रियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए पिछले साल 22 दिसंबर को स्मार्ट सहेली योजना शुरू की गई थी।

इसके तहत नियमित रुप से रेलवे के जरिए यात्रा करने वाली महिलाओं के 85 ह्वाट्सएप ग्रुप बनाए गए हैंं जिससे महिला आरपीएफ स्टाफ होती है। इन महिलाओं को किसी भी अप्रिय घटना की सूचना तुरंत देने के लिए प्रेरित किया जाता है जिससे मामले में जल्द कार्रवाई की जा सके। लंबी दूरी की ट्रेनों में अकेले यात्रा करने वाली महिलाएं खुद को सुरक्षित महसूस करें इसके लिए मेरी सहेली टीम बनाई गई है। इस टीम में एक महिला आरपीएफ सब इंस्पेक्टर और दो से तीन महिला कांस्टेबल लंबी दूरी की ट्रेनों में यात्रा से पहले महिलाओं यह बतातीं है कि उन्हें यात्रा के दौरान कैसे और क्या एहतियात बरतना चाहिए।

खासकर मुंबई से नागपुर होकर हावडा जाने वाली मुंबई हावडा स्पेशल, मुंबई नागपुर स्पेशल, मुंबई वाराणसी स्पेशल ट्रेनों में मेरी सहेली टीम को भेजकर यात्रा करने वाली महिलाओं को सावधान किया जाता है। परेशानी की स्थिति में किन नंबरों पर संपर्क करना है महिलाओं को इसकी भी जानकारी दी जाती है। इसके अलावा ट्रेनों और प्लेटफॉर्म की सुरक्षा के लिए महिला आरपीएफ जवानों की तैनाती की गई है। लोकल ट्रेनों के महिला डिब्बों में भी आरपीएफ के जवान तैनात रहते हैं। महिला डिब्बों में अनधिकृत रुप से यात्रा करने वाले पुरुषों के खिलाफ लगातार कार्रवाई की जा रही है। मई महीने में महिला डिब्बों में यात्रा करने वाले  191 पुरुषों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उनसे 43 हजार 700 रुपए के जुर्माना वसूला गया।

महिलाओं की सुरक्षा के लिए वीडियो निगरानी प्रणाली का इस्तेमाल किया जा रहा है। 3140 सीसीटीवी कैमरों के जरिए महानगर के स्टेशन परिसर पर नजर रखी जाती है। लोकल ट्रेन के 200 महिला डिब्बों में भी सीसीटीवी कैमरे लगाए जा चुके हैं।  कोशिश है कि जल्द सभी डिब्बों को सीसीटीवी कैमरों से लैस कर दिया जाए। इसके अलावा एक ऐसी प्रणाली विकसित की जा रही है जिससे पहले अपराध में शामिल रहे किसी भी व्यक्ति के सीसीटीवी में नजर आने पर जीआरपी को इसकी जानकारी हो जाएगी

Related Articles

मालाड के दुर्गम क्षेत्रों में शुरू हुआ टीकाकरण अभियान

मुंबई। उत्तर मुंबई के मालाड क्षेत्र के समुद्री किनारे पर बसी बड़ी आबादी के लिए स्थानीय सांसद गोपाल शेट्टी के अथक प्रयासों...

टैक्स को लेकर पीएमसी के तुगलकी फरमान का विरोध

वेबीनार का हुआ आयोजन मुंबई। मुंबई व महाराष्ट्र में कोरोना की दूसरी लहर जैसे ही थोड़ी ठंडी पड़ी, वैसे...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

22,042FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

मालाड के दुर्गम क्षेत्रों में शुरू हुआ टीकाकरण अभियान

मुंबई। उत्तर मुंबई के मालाड क्षेत्र के समुद्री किनारे पर बसी बड़ी आबादी के लिए स्थानीय सांसद गोपाल शेट्टी के अथक प्रयासों...

टैक्स को लेकर पीएमसी के तुगलकी फरमान का विरोध

वेबीनार का हुआ आयोजन मुंबई। मुंबई व महाराष्ट्र में कोरोना की दूसरी लहर जैसे ही थोड़ी ठंडी पड़ी, वैसे...

राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के जन्मदिन पर कृपाशंकर सिंह ने दी बधाई

मुंबई। महाराष्ट्र के राज्यपाल तथा उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री भगत सिंह कोश्यारी के जन्मदिन पर महाराष्ट्र के पूर्व गृह राज्यमंत्री कृपाशंकर सिंह...

भारी बारिश से कुर्ला टर्मिनस की सड़को की खस्ताहाल

मुंबई। लगातार हो रही बारिश से कुर्ला टर्मिनस की सड़कों की हालत दयनीय हो गई है। कुर्ला (पूर्व) पूर्व स्थित रेलवे कॉलोनी,...