मुंबई। बुधवार को वाग्धारा की टीम ने पुणे स्थित सन्मति बाल निकेतन में जाकर पद्मश्री सिंधुताई सपकाल को उनका वाग्धारा जीवन गौरव सम्मान सौंपा। सम्मान स्वरूप शॉल, श्रीफल, स्मृति चिन्ह व सम्मान राशि प्रदान की गई। गत दिनों मुंबई के राजभवन में वाग्धारा सम्मान समारोह आयोजित किया गया था, लेकिन स्वास्थ्य कारणों के चलते सिंधुताई सपकाल इस समारोह में उपस्थित नहीं हो सकी थीं।

वाग्धारा के अध्यक्ष डॉ. वागीश सारस्वत के साथ उनकी टीम ने बुधवार को पुणे जाकर उनके आश्रम में मुलाकात की और सम्मान सौंपा। इस अवसर पर पद्मश्री सिंधुताई सपकाल ने वाग्धारा के कार्यों की सराहना की, तथा प्रदत्त किए गए स्मृति चिन्ह को बहुत सुंदर बताया। वाग्धारा की टीम में गीतकार शेखर अस्तित्व, संगीतकार सुधाकर स्नेह, कथक नृत्यांगना दुर्गेश्वरी सिंह महक, मयूर जैन, महिला उद्यमी खुशबू अग्रवाल शामिल थे ।

सिंधुताई सपकाल को सम्मान सौंपते समय उनकी सुपुत्री ममता, सिंधुताई द्वारा गोद लिए गए प्रथम दत्तक पुत्र दीपक दादा, आश्रम के सहयोगी विद्या, राजाभाऊ एवं आश्रम के विद्यार्थीगण उपस्थित थे ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here