मुंबई। लगातार विरोध और सेंसर बोर्ड के एतराज के बाद अभिनेता अक्षय कुमार की आगामी फिल्म का नाम “लक्ष्मी बम’ से बदलकर केवल “लक्ष्मी’ रख दिया गया है। लेकिन इससे फिल्म से जुड़े लोगों की मुश्किलें खत्म नहीं हुईं हैं। अक्षय कुमार और दूसरे लोगों के खिलाफ साकीनाका पुलिस स्टेशन में शिकायत करने वाले सामाजिक कार्यकर्ता प्रशांत पुजारी ने मामले में शुक्रवार को पुलिस के सामने अपना बयान दर्ज कराया। 

पुजारी ने कहा कि फिल्म का नाम विवाद में आने के बाद अब भले ही बदल दिया गया है, लेकिन जान बूझकर धार्मिक भावनाएं आहत करने के लिए और लोकप्रियता हासिल करने के लिए यह नाम रखा गया था। पुजारी ने पुलिस को बताया कि उन्होंने यूट्यूब पर फिल्म का ट्रेलर और नाम देखा, तो हैरान रह गए, क्योंकि देवी लक्ष्मी से उनकी आस्था जुड़ी हुई है। ऐसे में इस नाम साथ बम शब्द के इस्तेमाल से उनकी भावनाएं आहत हुईं। पुजारी ने मामले में अक्षय कुमार और फिल्म से जुड़़े दूसरे लोगों के खिलाफ शिकायत करते हुए पुलिस से एफआईआर दर्ज कर कार्रवाई की मांग की है। पुजारी के वकील प्रभाकर त्रिपाठी ने बताया कि मामले में आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 295 (ए) के तहत धार्मिक भावनाएं आहत करने के आरोप में एफआईआर दर्ज करने की मांग की गई है। अगर पुलिस कार्रवाई नहींं करती तो हम अदालत का दरवाजा खटखटाएंगे।

सेंसरबोर्ड के एतराज पर बदला नाम

अगले महीने ओटीटी प्लेटफॉर्म पर प्रदर्शित होने जा रही अभिनेता अक्षय कुमार की फिल्म के नाम को लेकर हो रहे विरोध के बीच सेंसरबोर्ड ने फिल्म से जुड़े लोगों को फिल्म का नाम बदलने को कहा था। जिसे स्वीकार करते हुए अब फिल्म का नाम केवल लक्ष्मी कर दिया गया है। सेंसर बोर्ड को लक्ष्मी बम में “बम’ शब्द पर एतराज था।  

1 COMMENT

  1. Prashant pujari ki bhawanaye tab sahath nahi hoti hai jab Diwali par hum Laxmi bomb phodhte hai…aur unki photo aur naam mitti me mila the hai….yahi nahi unke naam ki beedi peete hai…aur bhi bahut kuch…yeh sab sasti publicly hai aur kuch nahi….Pk ke samay yeh sab gahri nidra me tallin the shayad ..

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here